दीदी का धरना समाप्त, सुप्रीम कोर्ट के आर्डर को बताया अपनी जीत

धरना स्थल पर ममता बनर्जी आन्ध्र प्रदेश के मुख्य मंत्री चंद्रबाबू नायडू के साथ




अब मामला सीबीआई बनाम सीबीआई से हटकर ममता बनर्जी बनाम सीबीआई पहुँच गया है. सीबीआई की टीम कोलकाता कमिश्नर राजीव कुमार को गिरफ्तार करने पहुंची थी. इसके खिलाफ करवाई करते हुए कोलकाता पुलिस ने सीबीआई के अधिकारियों को गिरफ्तार कर थाने पहुंचा दिया. इसके बाद 3 फरवरी को ममता बनर्जी ने केंद्र पर आरोप लगाया कि वह सीबीआई का इस्तेमाल वह अपने विरोधियों को फंसाने के लिए कर रही है. और इसी के साथ उनहोंने संविधान बचाओ का नारा देते हुए कोलकाता के मेट्रो चैनल धरने पर बैठ गईं. आज धरना का तीसरा दिन था.

ममता बनर्जी को आप, राजद, सपा और बसपा के साथ ही कई अन्य विपक्षी दलों का साथ मिल गया. सोमवार को आरजेडी नेता तेजस्वी यादव और डीएमके नेता कनिमोई कोलकाता पहुंचकर ममता के धरने में शामिल हुए और मोदी सरकार (Modi Govt) पर हमला बोला. आज चंद्रबाबू नायडू भाई ममता के समर्थन में कोलकाता धरना स्थल पर पहुंचे.



सुप्रीम कोर्ट के आर्डर को अपनी जीत बताते हुए बनर्जी ने आज अपना धरना ख़त्म करने की घोषणा की. साथ ही अपने संबोधन में मोदी सरकार पर आरोप भी लगाया कि वह लोकतंत्र को तबाह कर रहे हैं.

CBI बनाम ममता सरकार मामले में CBI की दो अर्ज़ियों पर आज सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की थी. चीफ़ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस दीपक गुप्ता और जस्टिस संजीव खन्ना की बेंच ने सुनवाई के दौरान कहा कि पुलिस कमिश्नर की गिरफ्तारी नहीं होगी. हालांकि, कोर्ट ने राजीव कुमार को सीबीआई के सामने पेश होने का आदेश दिया. सोमवार को CBI की ओर से पेश हुए सॉलिसिटर जनरल ने कोर्ट में दावा किया कि सारदा चिटफंड मामले में कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार सबूत के साथ छेड़छाड़ कर रहे हैं.

ममता बनर्जी ने कोर्ट के आदेश के फ़ौरन बाद कहा कि “मैं देश को बचाने के लिए अपनी जिंदगी कुर्बान करने को तैयार हूं, मगर अन्याय बर्दाश्त नहीं करूंगी.” उनहोंने कहा कि इस देश में कोई बिग बॉस नहीं है. यहां केवल जनता ही बिग बॉस है. केवल लोकतंत्र ही इस देश का बड़ा मालिक है. सीबीआई का अपना कोर्ट है. कितने लोगों को न्याय मिलता है. मैं सिर्फ राजीव कुमार के लिए नहीं लड़ रही हूं, मैं करोड़ों लोगों के लिए लड़ रही हूं.”

सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर उनहोंने कहा कि “यह मेरी जीत नहीं है. यह संविधान की जीत है. यह भारत की जीत है. हमारा आंदोलन लोगों का आंदोलन है. मैंने बहुत समय तक अन्याय को पचाया. मेरा दिल अन्याय पर रो रहा था. सुप्रीम कोर्ट में केंद्र के आरोपों को खारिज कर दिया. आपसी जगह पर सहमति बनानी होगी. राजीव कुमार की गिरफ्तारी से इनकार किया गया है. आज लोकतंत्र की जीत है, भारत की जीत है, लोगों की जीत है.”

योगी आदित्यनाथ के हेलिकॉप्टर को जमीन पर नहीं उतरने देने के आरोप पर ममता ने कहा कि यह बिल्कुल गलत है. उनहोंने कहा कि योगी आदित्यनाथ पहले यूपी को संभालें. वहां, इतने लोग मारे गए हैं, यहां तक ​​कि पुलिस भी सुरक्षित नहीं है.

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि हम सभी संविधान और लोकतंत्र की रक्षा के लिए एक साथ हैं. लोकतांत्रिक संस्थाओं पर हमले हो रहे हैं. चुनाव से महीने भर पहले वे पुलिस कमिश्नर के पास गए और उन्हें प्रताड़ित किया. यह पूरी तरह से गैरलोकतांत्रिक है.




Be the first to comment on "दीदी का धरना समाप्त, सुप्रीम कोर्ट के आर्डर को बताया अपनी जीत"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*