दुर्गा पूजा पर ममता सरकार ने मुसलमानों पर किया अत्याचार




बंगाल माइनॉरिटी युथ फेडरेशन ने बुधवार को राज्य सरकार द्वारा स्थानीय क्लबों को फंड लाइन पर सभी मदरसों को 2 लाख रुपये की सहायता की मांग की गई है। इसके लिए ममता बनर्जी सरकार ने आदेश दिया कि पूरे राज्य में दुर्गा पूजा समितियों को 10,000 रुपये से 28,000 रुपये तक का भुगतान किया जाए।

इस पर मुस्लिम उलेमाओं का मानना है कि उन्हें दुर्गा पूजा समितियों के साथ इतनी बड़ी राशि का भुगतान करने में कोई समस्या नहीं थी, लेकिन इमामों को दी जाने वाली आय भी बढ़ाई जानी चाहिए।

इतना ही नहीं फरफुरा शरीफ के नेता तोहा सिद्दीकी ने अगले साल निर्धारित लोकसभा चुनावों में अल्पसंख्यकों के लिए सत्तारूढ़ टीएमसी से कम से कम 16 सीटों की मांग की थी। सिद्दीकी ने कहा, “हम अगले लोकसभा चुनावों के लिए सत्तारूढ़ टीएमसी से कम से कम 16 सीटों के लिए टिकट मांगते हैं।”

हालांकि फेडरेशन सचिव मोहम्मद क्वामुरुज़मान ने यह भी मांग की कि एक मुसलमान को शहर में पुलिस आयुक्त बनाया जाए और सेनाओं में अल्पसंख्यक प्रतिनिधियों को जोड़े जाने की बात रखी है। इसके आलावा 614 मदरसों में अधिक शिक्षकों की भर्ती की भी मांग को उठाया गया है।

बताते चलें कि सभी बंगाल अल्पसंख्यक युवा संघ ने ममता बनर्जी को उनकी मांगों के समर्थन में एक ज्ञापन जमा करने का निर्णय लिया था, लेकिन पुलिस ने राज्य सचिवालय में जाने से रोक दिया था।

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*