बिहार सरकार ने की हाई लेवल मीटिंग, कही रूल ऑफ लॉ स्थापित हो




बिहार में जहाँ इन दिनों आपराधिक घटनाएं तेज़ी से बड़ी हैं वहीँ पीछे एक हफ्ते में बिहार राज्य में मोबलीचिंग की 10 से ज़्यादा वारदातों को अंजाम दिया गया. इसी बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज विधि व्यवस्था की उच्च स्तरीय समीक्षा की.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बैठक में अपराध नियंत्रण, लॉ एंड ऑर्डर, पेशेवर अपराधियों की गतिविधियां, पुलिस की गश्ती, पुलिस प्रशिक्षण, सांप्रदायिक तत्वों के खिलाफ कार्रवाई, महिला और छात्रावासों की सुरक्षा, साइबर क्राइम, आर्थिक अपराध, नक्सली गतिविधियों पर रोक, लूट, हत्या, अपराध, बलात्कार, रेल एवं बैंक डकैती, वाहन चोरी, वायरल वीडियो कांड, एससी-एसटी के विरुद्ध आपराधिक घटनाओं सहित अनेक ज्वलंत मुद्दों पर विस्तृत समीक्षा की.

सीएम नीतीश ने निर्देश दिया कि लॉ एंड आर्डर और इन्वेस्टीगेशन को अलग करने का प्रावधान सुनिश्चित किया जाए और इसे अविलंब लागू किया जाय. राज्य सरकार का यह संवैधानिक दायित्व है कि वह रूल ऑफ लॉ को दुरुस्त रखे. साथ ही उन्होंने कहा कि तकनीक का दुरुपयोग कर वाहनों के फर्जी कागजात बनाने वाले रैकेटियर को चिन्हित कर उनपर पुलिस प्रशासन सख्त कार्रवाई सुनिश्चित करे.

 

 

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!