मायावती के भाई और भाभी की 400 करोड़ रुपए की बेनामी संपत्ति ज़ब्त

कानून के अनुसार, बेनामी अधिनियम का उल्लंघन करने वाले को सात साल कठोर कारावास और बेनामी संपत्ति के बाजार में कीमत का 25 फीसदी जुर्माने के तौर पर भी देना पड़ सकता है




बसपा सुप्रीमो मायावती अपने भाई आनंद कुमार के साथ जो अभी बसपा के राष्टीय उपाध्यक्ष बनाए गए हैं (फ़ोटो: पीटीआई)

दिल्ली की बेनामी निषेध इकाई ने 16 जुलाई को मायावती के भाई और बसपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आनंद कुमार और उनकी पत्नी के मालिकाना हक़ वाले सात एकड़ के भूखंड को ज़ब्त करने का आदेश जारी किया था. आयकर विभाग उनकी संपत्तियों से जुड़े मामलों की जांच कर रहा है.

आयकर विभाग ने बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती के भाई आनंद कुमार और भाभी का नोएडा में 400 करोड़ रुपये का बेनामी प्लॉट जब्त किया है.

आधिकारिक आदेश के अनुसार, दिल्ली स्थित बेनामी निषेध इकाई (बीपीयू) ने आनंद कुमार और उनकी पत्नी विचित्र लता के लाभकारी मालिकाना हक वाले सात एकड़ के भूखंड को जब्त करने का अस्थाई आदेश 16 जुलाई को जारी किया था.

अधिकारियों के बताया कि बीपीयू ने इस प्लॉट को जब्त करने का आदेश दिया था. आनंद कुमार ने यह संपत्ति अवैध तरीके से किसी करीबी के नाम पर खरीदी थी. दो साल की जांच के बाद इस बात के पुख्ता सबूत आयकर अधिकारियों को मिल चुके हैं. इससे पहले भी आनंद को बेनामी संपत्ति के मामले में नोटिस भेजे जा चुके हैं.

बता दें कि लोकसभा चुनाव के बाद बसपा प्रमुख मायावती  ने पार्टी नेताओं के साथ बैठक कर कई बड़ी घोषणाएं की थी. मायावती ने अपने भाई आनंद कुमार को बसपा का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया था जबकि भतीजे आकाश आनंद  को नेशनल कॉर्डिनेटर की जिम्मेदारी दी थी.

जब्त की गई इस संपत्ति को आनंद कुमार और उनकी पत्नी की बेनामी समझा जाएगा जो 28,328.07 वर्ग मीटर या करीब सात एकड़ में फैली है. जब्त की गई सम्पत्ति की कीमत 400 करोड़ रुपए है.

कानून के अनुसार, बेनामी अधिनियम का उल्लंघन करने वाले को सात साल कठोर कारावास और बेनामी संपत्ति के बाजार में कीमत का 25 फीसदी जुर्माने के तौर पर भी देना पड़ सकता है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मायावती के भाई आनंद कुमार कभी नोएडा प्राधिकरण में मामूली क्लर्क हुआ करते थे. उनके ऊपर फर्जी कंपनी बनाकर करोड़ों रुपये लोन लेने का आरोप भी लगा था.

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!