केरल के 45,000 स्कूल होंगे हाई-टेक




केरल का प्रतीकात्मक छवि

-द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी डेस्क

तिरुवनंतपुरम (केरल), 23 नवंबर| केरल में करीब 4,775 विद्यालयों की पैंतालीस हजार कक्षाएं अगले वर्ष मार्च तक हाई-टेक हो जाएंगी। इन कक्षाओं में 60,250 लैपटॉप और 43,750 मल्टीमीडिया प्रोजेक्टर लगाए जाएंगे। केरल इंफ्रास्ट्रक्चर एंड टेक्नोलॉजी फॉर एज्युकेशन (केआईटीई) के उपाध्यक्ष के अनवर सादत ने आईएएनएस को बताया कि सफल बोली लगाने वालों को गुरुवार को 60,250 लैपटॉप और 43,750 मल्टीमीडिया प्रोजेक्टर दिए जाने के बादेश दे दिए गए हैं।


सादत ने कहा, “इन्हें तीन चरणों में जनवरी, फरवरी और मार्च में वितरित किया जाएगा।”

उन्होंने कहा कि इस परियोजना की अनुमानित लागत 493.50 करोड़ रुपये है। हालांकि, टेंडर के बाद कर को हटाकर अंतिम मूल्य के रूप में 228.04 करोड़ रुपये प्राप्त हुए।

लैपटॉप में फ्री और ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर (एफओएसएस) ऑपरेटिंग सिस्टम पहले से मौजूद होगा। हर मशीन में 1.50 लाख रुपये का अतिरिक्त खर्च आएगा।

इस पहल के माध्यम से राज्य खजाने के 900 करोड़ रुपये को बचाया जा सकेगा।

सादत ने कहा, “देश में पहली बार, इन लैपटॉप और प्रोजेक्टर पर 5 साल की वारंटी होगी। विद्यालयों पर इन मशीनों के रखरखाव की जिम्मेदारी नहीं होगी।”


सादत ने आगे कहा, “विद्यालयों द्वारा की गई शिकायतों के निवारण के लिए केआईटीई कॉल सेंटर और वेब पोर्टल स्थापित करेगी। अगर विद्यालय द्वारा बताई गई किसी भी समस्या का समाधान निर्धारित समय के भीतर नहीं किया गया, तो संबंधित कंपनियों पर प्रतिदिन 100 रुपये के हिसाब से जुर्माना लगाया जाएगा।”

-आईएएनएस

 

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!