उत्तर प्रदेश में हिस्ट्री शीटर विकास दुबे को पकड़ने गए 8 पुलिसकर्मी की हत्या, 7 अन्य गंभीर रूप से घायल




यूपी के कानपुर में विकरू गांव में विकास दुबे को पकड़ने गयी पुलिस टीम पर दुबे गिरोह ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दी। इसमें बिल्हौ,र के सीओ समेत 8 पुलिसकर्मी मारे गए। एसओ बिठूर समेत 6 पुलिसकर्मी गम्भीर रूप से घायल हैं। सभी घायल पुलिसकर्मियों को गंभीर हालत में रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

मीडिया सूत्रों के अनुसार, बिठूर के घायल एसओ कौशलेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि देर रात को चौबेपुर थानाक्षेत्र के बिकरू गांव निवासी विकास दुबे के घर पर पुलिस टीम दबिश देने गई थी। बिठूर व चौबेपुर पुलिस ने छापेमारी करके विकास के घर को चारों तरफ से घेर लिया। पुलिस ने दरवाजा तोड़कर बदमाशों को पकड़ने का प्रयास कर ही रही थी कि विकास के साथ मौके पर मौजूद 8-10 बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। पुलिसकर्मी जब तक कुछ समझ पाते गोली मेरी जांघ और हाथ पर लग गई। इसके बाद अपराधी मौके से भाग निकले।

मीडिया सूत्रों के, मारे गए पुलिसकर्मियों के नाम और पद यह हैं:

1.क्षेत्राधिकारी (सीओ) बिल्हौर श्री देवेंद्र मिश्र पुत्र श्री महेश चंद्र मिश्र, निवासी ग्राम महेवा थाना गिरवां, जनपद बांदा
2-उप निरक्षक अनूप कुमार सिंह पुत्र रमेश बहादुर सिंह, निवासी ग्राम बेलखरी(ऊसरहा), थाना मान्धाता, जिला प्रतापगढ़
3-उप निरीक्षक नेबू लाल पुत्र कालिका प्रसाद, निवासी ग्राम मीती (नऊआन), थाना हण्डिया, जनपद प्रयागराज
4-आरक्षी सुल्तान सिंह पुत्र हरि प्रसाद, निवासी ग्राम मऊरानीपुर, दलीलचौक, थाना मऊरानीपुर, जनपद झांसी
5- सिपाही बबलू पुत्र छोटेलाल, निवासी ग्राम पोखर पांडेय, नगला लोडिया, थाना फतेहाबाद, आगरा।
6- एसओ महेश यादव पुत्र देव नारायण, निवासी ग्राम बनपुरवा रामपुर कला, थाना सोनी, जिला रायबरेली।
7- सिपाही जितेंद्र कुमार पुत्र तीर्थपाल निवासी ग्राम बरारी थाना रिफाइनरी, जिला मथुरा।
8- सिपाही राहुल कुमार पुत्र ओमकुमार निवासी देवेंद्रपुरी, थाना मोदीनगर, जिला गाजियाबाद।

बदमाशों से मुठभेड़ के दौरान चार पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हुए हैं और रीजेंसी हॉस्पिटल के आईसीयू में भर्ती हैं। इसमें दो सिपाहियों के पेट में गोली लगी हैं।

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*