कोहरे के कारण 2 माह के लिए 8 ट्रेनों को ही रद्द कर दिया, वाह रे बुलेट ट्रेन का सपना दिखाने वालों




-द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी डेस्क

लखनऊ (उत्तर प्रदेश), 27 नवम्बर, 2017 | वाह रे, रेलवे की व्यवस्था, यह वही व्यवस्था है जो हमें बुलेट ट्रेन का सपना दिखा रही है। बुलेट ट्रेन की तो छोडिए इनसे तो अब साधारण ट्रेनें भी नहीं चल रही है।



पूर्वोत्तर रेलवे (एनईआर) ने आने वाले दिनों में घने कोहरे की संभावना के मद्देनजर 1 दिसंबर से 13 फरवरी के बीच आठ ट्रेनों का परिचालन रद्द करने का आदेश दे दिया है।

आईएएनएस के अनुसार एक अधिकारी ने सोमवार को बताया कि इन ट्रेनों में आगरा इंटरसिटी, 12179 लखनऊ जंक्शन-आगरा कैंट एक्सप्रेस, 15209 सहरसा-अमृतसर एक्सप्रेस, 14674 अमृतसर-जयनगर शहीद एक्सप्रेस और लखनऊ-आनंद विहार एक्सप्रेस शामिल हैं।

एनईआर के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (सीपीआरओ) संजय यादव ने कहा कि कोहरे के मद्देनजर इन ट्रेनों को रद्द किया गया है।

इसके अलावा कुछ ट्रेनों को आंशिक रूप से भी रद्द कर दिया गया है जिनमें ग्वालियर-बरौनी एक्सप्रेस शामिल है जो केवल लखनऊ जंक्शन तक ही चलेगी और यहीं से शुरू होगी।

जयनगर-नई दिल्ली एक्सप्रेस, आजमगढ़-दिल्ली कैफियत एक्स्प्रेस, बरौनी-अंबाला हरिहरनाथ एक्सप्रेस भी एक दिसंबर से 13 फरवरी के बीच हर गुरुवार को रद्द रहेगी।

जयनगर-अमृतसर एक्सप्रेस एक फरवरी से 13 फरवरी के बीच हर सप्ताह शुक्रवार को नहीं चलेगी।

द मॉर्निंग क्रॉनिकल टीम ने जब इस बाबत अन्य रेल अधिकारियों से पूछा तो उनहोंने नाम न बताने की शर्त पर कहा कि यह रेलवे की कुव्यवस्था का परिणाम है और कुछ नहीं.



प्रश्न यह उठता है कि रेलवे ने तो इन ट्रेनों को बंद कर दिया तो अब यात्रियों के पास अपने अपने घरों में बैठे रहने के अलावा क्या विकल्प होगा. इनमें कई ट्रेन ऐसी हैं जिनसे दैनिक जीवन पूरी तरह से प्रभावित होने की आशंका है. कई ट्रेनें ऐसी हैं जो रोज़गार से भी जुड़ी हैं.

 

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!