लॉ एंड ऑर्डर पर उठ रहा सवाल, सुशासन बाबू से नहीं बन रहा जवाब




पटना : बिहार में सुशासन बाबू के शासन को अपराधियों ने दरकिनार कर पिछले पांच दिनों में पांच हत्या को अंजाम दिया है। पिछले एक हफ्ते में बिहार में अपराधियों का बोलबाला है।

बीते शनिवार को हुई दो व्यापारियों के हत्या मामले में पहली घटना गया, दूसरी दरभंगा की और तीसरी बेगूसराय की थी। गया के रहने वाले पिंटू सिंह का अपहरण कर हत्या की गई। गया में आमस के सिमरा मोड़ के पास गोलियों से भुना हुआ पिंटू का शव मिला था। वहीं दरभंगा में एस के शाही कंस्ट्रक्शन के मालिक कुशेष प्रसाद शाही को बाइक पर सवार अज्ञात लोगों ने गोली मार दी। इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई है। घर से ऑफिस जाने के दौरान अपराधियों ने उन्हें निशाना बनाया और घटना को अंजाम देकर फरार हो गए।



वहीं बिहार के बेगूसराय में मुफस्सिल थाना क्षेत्र के पसपुरा गांव में 22 दिसंबर की रात बदमाशों ने प्रोपर्टी डीलर महेश कुमार (32) को अपहरण कर गोली मारकर हत्या कर दी थी। साक्ष्यों छुपाने के लिए बदमाशों ने शव को खेत में फेंक दिया था

इससे पहले अपराधियों ने गुरुवार को पटना के एक बड़े व्यवासायी गुंजन खेमका की वैशाली में ही गोली मारकर हत्या कर दी थी। लगातार व्यवसाइयों की हत्या को देखते हुए विपक्ष नीतीश सरकार और शासन पर सवालिया निशान लगा रहा है और लॉ एंड ऑर्डर के खिलाफ हमलावर हो रहा है।

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!