महागठबंधन में शामिल हुए मुकेश सहनी, बिहार की राजनीति पर पड़ेगा गहरा असर




बिहार में जहां एक तरफ NDA के सीट बंटवारे को लेकर कयास ख़त्म हुई वहीँ एनडीए में जाने के कयासों को दरकिनार करते हुए मुकेश सहनी ने आज महागठबंधन ज्वाइन करने लिया।

विकासशील इंसान पार्टी के संस्थापक और निषाद विकास संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश सहनी आज महागठबंधन में शामिल हो गए। तेजस्वी यादव और उपेन्द्र कुशवाहा की उपस्थिति में उन्होंने इस बात का ऐलान किया।

वही महागठबंधन में शामिल मुकेश सहनी ने बीजेपी पर वादाखिलाफी का आरोप लगाया और कहा कि हमने उनका हमेशा साथ दिया, लेकिन उन्होंने हमें कुछ नहीं दिया अब हम महागठबन्धन के साथ खड़े हैं।



उन्होंने कहा कि एनडीए 2 अंकों में सिमट जाएगी। उन्होंने कहा कि 7 जनवरी को माछ-भात का आयोजन करेंगे। सहनी ने नारा भी दिया ”माछ-भात खाएंगे, महागठबन्धन को जिताएंगे”

वहीं उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि अब केन्द्र और बिहार सरकार की विदाई का समय आ गया है। उन्होंने लालू यादव की कमी खलने की बात कही और रामविलास पासवान पर तंज कसते हुए कहा कि एनडीए का खाता नहीं खुलने के डर से रामविलास जी ने राज्यसभा की सीट का चुनाव किया है। वे मौसम को सही तरह से पहचानते हैं।

आपको बताते चलें कि मुकेश सहनी अपनी जाति में काफी हद तक पैठ बना चुके हैं। हालांकि बिहार में सभी उपजातियों को मिलाकर निषादों की कुल आबादी लगभग 14 प्रतिशत है। वही सिर्फ मल्लाह की भी बात करें तो इनकी संख्या बिहार में 5.2 प्रतिशत है जो की बड़ी संख्या है। जाहिर है मुकेश सहनी महागठबंधन में शामिल होने यह बिहार की राजनीति में इसका गहरा असर पड़ेगा।

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!