भाजपा को गुजरात में एक और पाटीदार का झटका




निखिल सवानी (चित्र साभार: ट्विटर)

-द टीएमसी हिंदी डेस्क

अहमदाबाद, 23 अक्टूबर । सोमवार को उत्तर गुजरात के एक पाटीदार नेता द्वारा सत्तारूढ़ पार्टी पर 1 करोड़ रुपए उन्हें रिश्वत देने का आरोप लगाने के बाद एक और पटेल चेहरा ने भाजपा को छोड़ दिया।



निखिल सवानी एक पखवाड़ा पहले भाजपा में तब शामिल हुए थे जब राज्य सरकार ने हार्दिक पटेल के पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएएस) को पटेल समुदाय के लिए आरक्षण पर कुछ आश्वासन दिया था।

इस्तीफे की घोषणा करते हुए, सवानी ने कहा कि उन्होंने महसूस किया कि “भाजपा पाटीदारों को वोट बैंक के तौर पर इस्तामाल कर रही है और उन्होंने जो वादा किया था वह सिर्फ लॉलीपॉप था।”

रविवार की रात में, उत्तर गुजरात के पीएएएस संयोजक नरेंद्र पटेल ने भाजपा में शामिल होने के दो घंटे बाद ही एक धमाका किया। उन्होंने नोटों की गड्डी प्रेस को दिखाते हुए कहा कि भाजपा ने उन्हें 1 करोड़ में खरीदने की कोशिश की थी।

उन्होंने कहा कि शनिवार शाम को शामिल हुए भाजपा के पाटीदार नेता वरुण पटेल ने उन्हें गुजरात भाजपा अध्यक्ष जितुभाई वाघानी और अन्य नेताओं से रविवार को मुलाकात कराने के लिए ले गए। उन्होंने 1 करोड़ रुपये के सौदा में से उन्हें 10 लाख रुपये दिए गए, उन्होंने आरोप लगाया।

नरेंद्र पटेल ने पिछले महीने उत्तर गुजरात के पाटण में हार्दिक पटेल और तीन समर्थकों के खिलाफ पुलिस शिकायत दर्ज कराई थी लेकिन बाद में इसे वापस ले लिया।

उनके द्वारा यह रिश्वतखोरी का मामला दो पाटीदार नेताओं के भाजपा में शामिल होने के एक दिन बाद आया।

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!