बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या का 25 दिन बाद हुआ बड़ा खुलासा




बुलंदशहर हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध की गोली मारकर हत्या करने का आरोपी प्रशांत नट गुरुवार को पुलिस की गिरफ्त में आ गया। प्रशांत नट ने इंस्पेक्टर की हत्या करने की बात पुलिस की पूछताछ में कबूली कर ली है।

उधर, एसएसपी ने यह भी बताया कि हिंसा में घिरने पर इंस्पेक्टर ने आत्मरक्षार्थ गोली चलाई जो सुमित को लगी थी। साथ ही बताया कि कलुआ ने इंस्पेक्टर के सिर में कुल्हाड़ी मारी थी, कलुआ अभी फरार है।

एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया कि गुरुवार शाम करीब पौने पांच बजे प्रशांत नट निवासी ग्राम चिंगरावठी को बुलंदशहर-नोएडा बॉर्डर से पुलिस टीम ने हिरासत में ले लिया।

एसएसपी ने बताया कि प्रशांत नट ने पूछताछ में स्वीकार किया है कि इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या उन्हीं की पिस्टल से उसने की थी। हालांकि पिस्टल अभी बरामद नहीं हुई है।



‘हिन्दुस्तान’ ने 23 दिसंबर को ही ब्रेकिंग न्यूज में बुलंदशहर हिंसा में इंस्पेक्टर की हत्या में प्रशांत नट पर गहराया शक शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया था। इसके बाद लोगों में प्रशांत नट का नाम चर्चा में आ गया था, जबकि नट हिंसा में नामजद भी नहीं था। पुलिस ने भी उसके नाम का तब तक खुलासा नहीं किया था। नट से पहले इंस्पेक्टर की हत्या में जीतू फौजी का नाम भी आ रहा था। गुरुवार को एसएसपी ने प्रशांत नट द्वारा इंस्पेक्टर की हत्या करने की पुष्टि कर दी।

25 दिन पहले बुलंदशहर गोकशी को लेकर भड़की हिंसा में एक इन्स्पेक्टर ने अपनी जान गंवा दी थी। वहीं इस घटना के बाद हर तरफ लोग सरकार की आलोचना करते नजर आये थे। सूत्रों ने बताया था कि इंस्पेक्टर ने बवाल वाले दिन से पांच-छह दिन पूर्व ही क्षेत्र में गैर प्रांत शराब की तस्करी करने वाले माफिया पर नकेल कसने के लिए अभियान शुरू किया था। आरोपियों से इंस्पेक्टर ने पूछताछ भी की थी और फिर हिदायत देकर छोड़ दिया था। बवाल वाले दिन भी खेत में इंस्पेक्टर के आस-पास उक्त पांच-छह लोगों के ही नजर आने की पुष्टि हो रही है। ऐसे में अब इंस्पेक्टर की मौत पर हुए इस खुलासे ने एक नया मामला छेड़ दिया है।

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*