उत्तर प्रदेश

16 को उठाया, 18 को ईनाम घोषित, 20 को लाइव एनकाउंटर में हत्या

मीडिया माध्यमों में कल 20 सितंबर 2018 की सुबह साढ़े 6 बजे के करीब अलीगढ़ के हरदुआग की मछुआ नहर की कोठी पर दो बदमाशों और पुलिस की मुठभेड़ हुई। नौशाद पुत्र राशिद और मुस्तकीम […]

ओपिनियन

बिहार में तेज़ हुई स्वर्ण वोट राजनीतिकरण

पटना : इन दिनों बिहार में सवर्णों को लेकर राजनीति दावपेंच तेज़ हो गई है। बिहार में कांग्रेस ने 26 वर्षों के बाद किसी ब्राह्मण को प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी पर बैठाया हैं। पिछड़ों की […]

ओपिनियन

भाजपा खेल रही है मुस्लिम कार्ड

देश में भाजपा मुसलमानों से दूरी बनाकर चलने वाली अब उन्हें ही गले लगा कर चलना चाह रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मस्जिद जा रहे हैं, तो RSS भी मुस्लिम मुहब्बत के राग छेड़ रही […]

ओपिनियन

इफ़्तार की सियासत अच्छी सियासत है

-समीर भारती गोदी मीडिया की पहचान दुनिया के सभी अच्छे कामों में मीन मेख निकालने तक ही रह गयी है. सब में इन्हें गंदी सियासत नज़र आती है ख़ास कर जब सौहाद्र अल्पसंख्यकों की गतिविधि […]

ओपिनियन

मीडिया में नकारात्मक बहस जारी रहते कश्मीर में रमज़ान पर संघर्ष विराम निर्थक

-सईद नक़वी मैंने इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को इससे पहले भाजपा सरकार की इस प्रकार पूरी तरह अवज्ञा करते कभी नहीं देखा। रमजान के महीने में संघर्षविराम की घोषणा करके कश्मीर को शांत करने के गृहमंत्री राजनाथ […]

ओपिनियन

कर्नाटक का ‘नाटक’ पटाक्षेप के करीब

-ऋतुपर्ण दवे भले ही देश की सर्वोच्च अदालत ने बहुमत के लिए जरूरी विधायक न होने के बावजूद किसी अकेली बड़ी पार्टी को राज्यपाल द्वारा आमंत्रित किए जाने के मुद्दे को न्यायिक समीक्षा के दायरे […]

ओपिनियन

रोजगार के लिए खेती का क्षेत्र

नेहरू, शास्त्री, मोरारजी के बाद खेती के साथ सौतेला बर्ताव ही होता रहा है। -चक्रवर्ती अशोक प्रियदर्शी भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के साथ कृषि संबंधी बैठक कल 20 फरवरी, 2018 को होने जा […]

ओपिनियन

बिहार : सियासी यात्राओं के जरिए जनता की नब्ज टटोलने की कवायद

-मनोज पाठक पटना (बिहार), 11 फरवरी, 2018 (टीएमसी हिंदी डेस्क) | लोकसभा चुनाव और बिहार विधानसभा में अभी एक साल से ज्यादा का समय है, लेकिन राजनीतिक दलों ने अभी से ही आगामी चुनावों में अपनी-अपनी […]

ओपिनियन

लोगों की राय: बजट में महिला सशक्तीकरण के नाम पर क्या क्या

-रितु तोमर मोदी सरकार के इस बार के बजट में कृषि, स्वास्थ्य, शिक्षा और उद्योगों पर मेहरबानी तो अच्छी बात है, लेकिन थोड़ी-बहुत तवज्जो महिलाओं को भी दी जानी चाहिए थी। देश में लगातार बढ़ […]

ओपिनियन

बाल विवाह और दहेजः जागरुकता के साथ बाकी बड़ी जिम्मेदारियां भी पूरी करे सरकार

-मनीष शांडिल्य बिहार में 21 जनवरी को बनी मानव श्रृंखला ठीक एक सप्ताह बाद तब फिर चर्चा में आई जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को बिहार सरकार द्वारा राज्य में सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ […]