विशेष

COVID19: विश्व महामारी के दौरान सोशल मीडिया पर फैलाए जा रहे इन्फोडेमिक से बचें

कोरोना वायरस से फैले इस विश्व महामारी के दौरान पूरी दुनिया गलत जानकारी की महामारी से जूझ रही है. इस बीमारी से संबंधित गलत जानकारी के कारण विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे “जानकारी की महामारी […]

विशेष

बिहार में कोरोना का असर बढ़ा, बन सकता है राज्य के लिए संकट

शनिवार और रविवार के बीच कोरोना से दो लोगों की मृत्यु की पुष्टि बिहार में हो चुकी है. शनिवार को पटना एम्स में कोरोना से एक की मृत्यु की पुष्टि होने के बाद पटना के […]

विशेष

आरएसएस का कांग्रेस मुक्त भारत बहाना, कम्युनिस्ट असल निशाना?

कोई माने या न माने आरएसएस की असल लड़ाई सोनिया के इटली वर्शन और राहुल के इतालवी कनेक्शन से नहीं है. सबको पता है कि जितना मोदी और ईरानी भारतीय हैं उतना ही भारतीय सोनिया […]

विशेष

अदनान सामी को पद्मश्री देने पर लोग क्या बोल रहे हैं?

अदनान सामी को भारत का नागरिकता मिलना और फिर उन्हें पद्म श्री सम्मान से नवाज़ा जाना यह बताता है कि हर पाकिस्तानी के अंदर एक संभावित भारतीय है. अदनाम सामी कभी फिल्म इंडस्ट्री में पाकिस्तानी […]

विशेष

‘आज के शिवाजी नरेंद्र मोदी’ किताब में मोदी की तुलना शिवाजी का अपमान?

-समीर भारती बॉलीवुड का कमल प्रोजेक्ट के तौर पर हमने कई फिल्मों को देखा. नरेंद्र मोदी सरकार की कई परियोजनाओं को बॉलीवुड के रुपहले परदे पर बढ़ा चढ़ा कर पेश किया जाता हुआ भी देखा. […]

विशेष

फैज़ अहमद फैज़ की कविता “हम देखेंगे, हम भी देखेंगे” के कुछ शब्दों से है परहेज़ तो इस पैरोडी को अपने इंकलाबी सुरों में शामिल करें

फैज़ अहमद फैज़ की कविता ‘हम देखेंगे, हम भी देखेंगे’ इन दिनों सुर्ख़ियों में है. यह कविता 1979 में लिखी गयी थी और पहली बार 1981 में प्रकाशित हुई। फैज़ ने इस कविता को जनरल […]

विशेष

सत्ता का जिहाद

–समीर भारती पहले आदिवासी, फिर दलित, फिर किसान, फिर मुसलमान, दमन जारी है और दमन जारी रहेगा. जब सत्ता किसी कारण अयोग्य लोगों के हाथों आता है तो यही होता है. पहले इनका कोई नेता […]

विशेष

अमृता प्रीतम और साहिर लुधियानवी की अधूरी मुहब्बत का वह मुकम्मल अफसाना जिसकी कोई दूसरी मिसाल नहीं मिलती

कभी कभी मेरे दिल में ख्याल आता है कभी कभी मेरे दिल में ख्याल आता है कि जैसे तू मुझे चाहेगी उम्र भर यूं ही कि जैसे तू मुझे चाहेगी उम्र भर यूं ही उठेगी […]

विशेष

आयुर्वेद के चमत्कारी बाबा, आचार्य बालकृष्ण को क्यों लेनी पड़ी एम्स में शरण?

-समीर भारती उत्तराखंड में ज़मींदारी उन्मूलन और भूमि सुधार अधिनियम (Zamindari Abolition and Land Reforms (ZALR) Act) और भारतीय स्टैम्प्स अधिनियम ( Indian Stamps Act) के तहत रामदेव और बालकृष्ण की कंपनी पतंजलि योग पीठ […]

विशेष

कश्मीर आज सब से बुरे दौर में

-चक्रवर्ती ए प्रियदर्शी   किसी भी स्टेट की सैनिक सत्ता दुनिया भर में आतंकवादी से कड़ाई से (दमन से) पेश आती है। परन्तु नागरिकों को आत्मनिर्णय का हक देती है। मानव अधिकार देती है। यहां […]