विशेष

कश्मीर आज सब से बुरे दौर में

-चक्रवर्ती ए प्रियदर्शी   किसी भी स्टेट की सैनिक सत्ता दुनिया भर में आतंकवादी से कड़ाई से (दमन से) पेश आती है। परन्तु नागरिकों को आत्मनिर्णय का हक देती है। मानव अधिकार देती है। यहां […]

विशेष

देश में मुद्दों का संकट

-समीर भारती एनडीटीवी के मैनेजिंग एडिटर रविश कुमार को रमन मैगसेसे पुरस्कार मिला. रविश को यह पुरस्कार तब मिला जब आज़म खान को लेकर, जय प्रदा को लेकर, ज़ोमेटो को लेकर स्टूडियो में क्रांति चल […]

विशेष

कैसे बनी पंजाब की छोरी शीला दीक्षित दिल्ली की पंडिताईन

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का निधन हो गया. वह 81 साल की थीं. वह लंबे समय से बीमार चल रही थीं. उनका एस्कॉर्ट हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था. दोपहर 3 बजकर 5 […]

भारत

क्यों हो रहा है ट्विटर पर #WeLoveBeef, Beef4Life और BeefForLife हैशटैग ट्रेंड?

ट्विटर पर जब कोई हैशटैग ट्रेंड करता है तो मेनस्ट्रीम मीडिया में वह खबर बनती है. कभी यह हैशटैग आशा के अनुरूप तो कभी यह अप्रत्याशित होते हैं. बीफ यानी गौ मांस को लेकर हैश […]

विशेष

मीडिया नेताओं की मातहत हो गयी है: सागरिका घोष

“भारत की धरती पर सबसे बड़े उदारवादी महात्मा गांधी थे. उनहोंने ताक़तवर सत्ता की कभी अपेक्षा नहीं की थी. ताक़तवर सत्ता नागरिकों के लिए हमेशा हानिकारक होती है. मीडिया आज नेताओं की मातहत बन गयी […]

विशेष

जब जनता ही संवेदनहीन हो जाए तो सत्ता क्या करे

-समीर भारती आज के परिप्रेक्ष्य में सत्ता समाज सेवा और देश सेवा के लिए नहीं हथियाई जाती है. सत्ता उपभोग की वस्तु बन गयी है और इसमें 5 साल के लिए कम से कम न […]

विशेष

फिल्म आर्टिकल 15: क्या ब्राह्मणों ने दलितों और मुसलमानों को इन्साफ दिलाने का ठेका ले लिया है?

-समीर भारती मेरे इस हेडलाइन से आप चौंकिए मत, न ही इसका मंशा पूरी ब्राह्मण जाति को औरों की तरह बुरा भला कहने का है. अपितु एक नैरेटिव फिल्मों, कहानियों और साहित्यों के ज़रिए बनाई […]

विशेष

राष्ट्रवाद की जय और गणतंत्र की क्षय

-राजीव सिंह कल मंगलवार को जब बिहार के मुख्य मंत्री नीतीश कुमार मुजफ्फरपुर के बदनाम अस्पताल एककेएमसीएच पहुंचे तो उनका जमकर विरोध हुआ. मीडिया की यह सुर्खियाँ बनीं. मीडिया ने परन्तु एक बात नहीं बताई […]

विशेष

मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत, या शेल्टर होम काण्ड अगर राजद या कांग्रेस की सरकार में हुआ होता तो क्या होता?

–समीर भारती आडवाणी की रथ यात्रा के बाद हमने भारत में विपक्ष का उग्र रूप देखा. इसकी शुरुआत हालांकि पहली बार इंदिरा गांधी के विरुद्ध जे पी आन्दोलन में देखा जब देश का बड़ा भाग […]

विशेष

लीची नहीं मुजफ्फरपुर में कुपोषित बच्चों की मौत की दोषी है सरकार

हर वर्ष मई के आखिर और जून के शुरू में, जैसे जैसे पछुआ हवा के साथ 40 डिग्री से ऊपर तापमान बढ़ा और पुरवईआ हवा के साथ नमी आई, हमें दर्जनों बच्चों की मौत की […]