वीडियो

‘खरी खोटी – नवेद अख़तर के साथ’ कड़ी 1:6: इस माह के ओपिनियन लीडर जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव

–द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी डेस्क नई दिल्ली, 08 दिसम्बर, 2017 इस माह के ओपिनियन लीडर, जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव की “नरेंद्र मोदी और भाजपा के न पूरे होने वाले वादे” और “मीडिया की दिशा जनता […]

वीडियो

‘खरी खोटी – नवेद अख़तर के साथ’ कड़ी 1:5: इस माह के ओपिनियन लीडर जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव

-द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी डेस्क नई दिल्ली, 07 दिसम्बर, 2017 इस माह के ओपिनियन लीडर, जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव की “गौ रक्षा, -किसान पर हमला और वोट बैंक की साज़िश” और “राहुल गांधी ही 2019 […]

वीडियो

‘खरी खोटी – नवेद अख़तर के साथ’ कड़ी 1:4: इस माह के ओपिनियन लीडर जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव

–द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी डेस्क नई दिल्ली, 06 दिसम्बर, 2017 इस माह के ओपिनियन लीडर, जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव की “हिन्दुओं की बहुमत भाजपा के विरोध में” और “जनता पार्टी का बिखरना भाजपा के बढ़ने […]

वीडियो

‘खरी खोटी – नवेद अख़तर के साथ’ कड़ी 1:3: इस माह के ओपिनियन लीडर जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव

–द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी डेस्क नई दिल्ली, 05 दिसम्बर, 2017 इस माह के ओपिनियन लीडर, जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव की “आज की भाजपा प्रेम की दुश्मन” और “गुजरात चुनाव का महत्व” विषयों पर द मॉर्निंग […]

वीडियो

‘खरी खोटी – नवेद अख़तर के साथ’ कड़ी 1:2: इस माह के ओपिनियन लीडर जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव

–द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी डेस्क नई दिल्ली, 04 दिसम्बर, 2017 इस माह के ओपिनियन लीडर, जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव की “जाति व्यवस्था कितना हकीकत” और “प्राइवेट में भी आरक्षण क्यों ज़रूरी” विषयों पर द […]

साक्षात्कार

युवाओं को राजनीतिक प्रशिक्षण देना आज की आवश्यकता: अरुणा रॉय

-उदयन रॉय पटना (बिहार), 26 नवम्बर,2017 | 71 वर्षीय अरुणा रॉय भारत की नामी राजनितिक और सामाजिक कार्यकर्त्ता हैं। आप कई वर्षों तक भारतीय प्रशासनिक सेवा में कार्यरत रहीं। आपने अपनी प्रशासनिक सेवा की नौकरी […]

भारत

अपनी फिल्मों से संतुष्ट हूं : कैटरीना

–निवेदिता   नई दिल्ली, 15 नवंबर | बॉलीवुड की कई सफल फिल्मों जैसे ‘नमस्ते लंदन’, ‘धूम-3’ और ‘एक था टाइगर’ आदि का हिस्सा रहीं अभिनेत्री कैटरीना कैफ की पिछली कुछ फिल्में ‘बार-बार देखो’ और ‘जग्गा जासूस’ […]

भारत

फिल्में अब पैसे से नहीं, दिमाग से बनती हैं : संजय मिश्रा

–संदीप शर्मा   नई दिल्ली| पिछले 25 सालों से मुख्यधारा और ऑफ-बीट फिल्मों में खुद को संतुलित बनाए हुए अनुभवी अभिनेता संजय मिश्रा का कहना है कि मौजूदा समय के ‘चतुर’ दर्शक फिल्म निर्माताओं को अनूठी […]

भारत

अमिताभ-सचिन के पास बेशुमार जमीन, दूसरी तरफ हजारों भूमिहीन : राजगोपाल 

–संदीप पौराणिक  ग्वालियर,| भूमिहीनों और वंचितों की लंबे अरसे से लड़ाई लड़ते आ रहे एकता परिषद के संस्थापक पी.वी. राजगोपाल सरकार की नीतियों से बेहद दुखी हैं। उनका कहना है कि एक तरफ अमिताभ बच्चन, […]

भारत

मार्क टुली : पत्रकारिता से कथा लेखन की ओर

–साकेत सुमन  नई दिल्ली, 7 नवंबर | अधिकांश भारतीयों से भी ज्यादा भारतीय परिवेश में रचे-बसे सर मार्क टुली का लालन-पालन भले ही अंग्रेजियत के साथ हुआ, लेकिन उनको भारत से लगाव बचपन से ही […]