CBI विवाद भाजपा को हो सकता है भारी नुकसान, तीन दिन में 3 फीसदी वोट घटे




देश की सबसे प्रमुख जांच एजेंसी सीबीआई में जारी संकट और केंद्र की मोदी सरकार द्वारा एजेंसी के निदेशक और विशेष निदेशक को जबरन छुट्टी पर भेजने का मामला पूरी तरह राजनीतिक हो गया है। सीबीआई में जारी संकट बीजेपी को भारी पड़ता नजर आ रहा है। आगामी राज्यों के चुनाव में इस विवाद का गहरा प्रभाव पड़ने की आशंका है। मध्य प्रदेश के एक सर्वे में पिछले तीन दिनों के दौरान बीजेपी के 3 फिसदी वोट घट गए हैं।

इस विवाद के लिए जहां कांग्रेस देश भर में मोदी सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतर आयी है, वहीं शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने भी अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव के नीतिगत फैसले लेने पर रोक लगाकर केंद्र सरकार को बड़ा झटका दिया है।

वहीं एक ताजा सर्वे में अब इस विवाद का प्रभाव आगामी विधानसभा चुनावों पर भी पड़ता दिखाई दे रहा है। सर्वे में मध्य प्रदेश के लोगों से पूछा गया कि क्या सीबीआई में जारी विवाद का असर बीजेपी के वोटों पर पड़ सकता है? सर्वे में मिले जवाबों में 43 फीसदी लोगों का मानना है कि इससे बीजेपी को नुकसान होगा।

एबीपी न्यूज और सी वोटर द्वारा इसी मुद्दे को केंद्र में रखकर किये गए एक सर्वे में इस विवाद की वजह से मध्य प्रदेश में बीजेपी को 3 फीसदी वोटों का नुकसान होता दिख रहा है। सर्वे में पिछले चार दिनों के वोटिंग ट्रेंड को दिखाया गया है, जिसके मुताबिक बीते तीन दिनों के दौरान बीजेपी के वोट प्रतिशत में 3 फीसदी की गिरावट हुई है, जबकि कांग्रेस अपने स्थान पर पहले की तरह ही कायम है।

सीबीआई विवाद के बाद किये गए इस सर्वे के मुताबिक 230 सदस्यों वाले मध्य प्रदेश विधानसभा में बीजेपी को 38 फीसदी वोट मिलने की संभावना है, जबकि कांग्रेस को 42 फीसदी वोट मिलता दिख रहा है। जबकि 11 फीसदी वोट अन्य दलों के खाते में जाता दिखाई दे रहा है।

वहीं, इन आंकड़ों को सीटों में बदलने पर बीजेपी को 80, कांग्रेस को 132 और अन्य को 18 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं। वहीं इन आंकड़ों के दूसरे विश्लेषण में कांग्रेस को 146 और बीजेपी के खाते में सिर्फ 75 सीटें जाती दिखाई दे रही हैं। जबकि अन्य को 09 सीटें मिल सकती हैं।

वहीं, कांग्रेस की बात करें तो कांग्रेस का वोट प्रतिशत पहले की ही तरह अपनी जगह पर बरकरार है। सर्वे में कांग्रेस को 22 अक्टूबर को 43 फीसदी, 23 अक्टूबर को 42.5 फीसदी, 24 अक्टूबर को 42 फीसदी और 25 अक्टूबर को भी 42 फीसदी वोट मिलता दिख रहा है। सर्वे में शिवराज सिंह चौहान की लोकप्रियता में भी कमी आई है।

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!