आंध्र प्रदेश: बेरोज़गार ब्राह्मण युवकों को चंद्रबाबू नायडू ने बांटी 8 लाख की कार




(प्रतीकात्मक छवि)

मोदी सरकार से नाराज़ चल रहे चंद्रबाबू नायडू ने आगामी आम चुनाव से पहले ब्राह्मणों को खुश करने के लिए नायब लेकिन बहुत महंगा तरीका ढूँढा है.

आंध्र प्रदेश में चन्द्र बाबू नायडू की नेतृत्व वाली तेलुगु देशम पार्टी की सरकार ने अपनी जनता को स्मार्ट फ़ोन बांटने का प्लान बनाया है. नायडू ने 1 जनवरी को राज्य की वित्तीय एवं आर्थिक विकास दर (financial and economic development rate) पर एक श्वेत पत्र जारी किया था. इस श्वेत पत्र में राज्य के प्रत्येक परिवार को स्मार्ट फ़ोन देने की घोषणा की गयी है. सरकार लगभग 1 करोड़ 40 लाख स्मार्ट फ़ोन के वितरण की घोषणा कर चुकी है.



इसके अतिरिक्त, नायडू सरकार ने ब्राह्मण वेलफेयर कारपोरेशन के माध्यम से ब्राह्मण युवाओं को डिजायर कार देने का निर्णय किया है. ब्राह्मण वेलफेयर कारपोरेशन का गठन 20 अगस्त 2014 को किया गया था. आज इसका 285 करोड़ रूपए का बजट है. अब तक डेढ़ लाख ब्राह्मण इससे लाभान्वित हो चुके हैं. इसके तहत वेद व्यास, भारती, भारती विदेश विद्या, वशिष्ठ, द्रोणाचार्य, चणक, कश्यप-अहिल्या और गरुड़ योजना चलाई जा रही है.

मुख्यमंत्री नायडू ने 4 जनवरी को अपने अमरावती के शिविर में 30 ब्राह्मणों को डिजायर गाड़ियाँ बांटी. इसके उपयोग पर राज्य सरकार ने कोई शर्त नहीं लगाई है हालांकि सरकार का कहना है कि यह उनको रोज़गार के लिए दिया जा रहा है.

डिजायर कार के कई मॉडल बाज़ार में उपलब्ध हैं. बाज़ार में सबसे सस्ता मॉडल 6 से साढ़े 6 लाख की कीमत का है. इसके बेहतर मॉडल का मूल्य 8 से 9 लाख है.

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!