राजस्थान में निर्मम हत्या का वीडियो: हत्यारे ने मज़दूर को मार कर शव को जलाया




प्रतीकात्मक छवि

-द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी डेस्क

पीयूसीएल और अन्य सिविल सोसाइटी ने राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के त्वरित इस्तीफ़ा की मांग की है.

जयपुर (राजस्थान), 07 दिसम्बर, 2017 वायरल हुए एक भयावह वीडियो में राजस्थान के राजसमंद जिले में एक व्यक्ति को कुल्हाड़ी से मार कर जिंदा जलाता दिखाया गया है। पुलिस ने वीडियो में दिख रहे हत्यारे शंभूनाथ रायगर को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। जलाकर मारे गए व्यक्ति की पहचान पश्चिम बंगाल के मालदा जिले के तेजपुर निवासी अफराजुल के रूप में हुई है। इससे पहले पुलिस ने उसकी पहचान मोहम्मद भट्टा शेख के रूप में की थी।

राजस्थान के गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया ने मामले की जांच विशेष जांच दल (एसआईटी) से कराने का आदेश दिया है।

पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार ने कहा कि आरोपी से पूछताछ जारी है और पुलिस कानून व व्यवस्था की स्थिति पर नजर रखे हुए है।



रायगर ने अपने नृशंस कृत्य का वीडियो भी बनाया और इसे सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया। यह वीडियो वायरल हो गया है। वीडियो में रायगर को अफराजुल को कृषि उपकरण से मारते और उसके बाद उस पर केरोसिन डालकर उसे जिंदा जलाते देखा जा सकता है। वह वीडियो में यह कहते देखा जा रहा है कि ‘लव जिहाद’ में शामिल लोगों का यही अंजाम होगा।

मोहम्मद अफराजुल जिनकी हत्या हुई वह पश्चिम बंगाल से आकर कई वर्षों से यहीं मज़दूरी कर रहे थे। पुलिस को शक है कि रायगर ने या तो जंगल की ओर दिशा बताने के लिए या मज़दूरी का बहाना बना कर मारा होगा।

आश्चर्यजनक तौर पर एक दूसरे वीडियो में रायगर अपने कार्य को सही ठहराते दिख रहा है। वह वीडियो में दावा कर रहा है कि इस ‘कार्य को लड़की को लव जिहाद से बचाने के लिए अंजाम दिया।’

जयपुर से मात्र 5 घंटे सड़क यात्रा की दूरी पर राजसमन्द में इस पोस्ट को और अधिक वायरल होने से रोकने के लिए इन्टरनेट को बंद कर दिया गया है। रायगर को उसके 14 साल के भतीजे के साथ गिरफ्तार कर लिया गया जो इस पूरी घटना का वीडियो ले रहा था. एक वीडियो में हत्यारे की बेटी भी दिखाई दे रही है।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ओपी गल्होत्रा ने कहा कि “यह बहुत ही निर्मम हत्या है। कोई भी सामान्य इंसान इसको नहीं करेगा।” राजस्थान के गृह मंत्री ने इस मामले की जांच विशेष जांच दल (एसआईटी) से कराने का आदेश दिया है।

वहीँ, विपक्षी पार्टियों और सिविल सोसाइटी द्वारा इसका विरोध किया जा रहा है। कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने कहा कि “कानून का कोई डर नहीं, पुलिस का कोई डर नहीं… कोई सरकार नहीं।” पायलट ने आगे कहा कि “हमें ऐसा कोई उदाहरण सेट करना होगा जिससे लोगों को लगे कि यहाँ कोई सरकार है इसके कुछ कायदे हैं।”

9 महीने के अंदर राजस्थान में निर्मम हत्या की यह चौथी घटना है। पहली घटना, 3 अप्रैल को किसान पहलु खान की हुई थी , दूसरी घटना 16 जून को ज़फर खान की की गयी थी जिसे स्वच्छ भारत अभियान के नाम पर म्युनिसिपेलिटी अध्यक्ष और सफ़ाई कर्मियों ने कथित तौर पर पीट पीट कर मार डाला था। तीसरी हत्या, पिछले महीने 10 नवम्बर को हुआ था जब उमैर खान और उनके साथियों को कथित गौरक्षकों ने गोली मार दी थी।

पीयूसीएल और अन्य सिविल सोसाइटी ने राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के त्वरित इस्तीफ़ा की मांग की है.

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!