‘चिन्मयानंद ने मेरा बलात्कार किया, मेरा एक वर्ष तक शारीरिक शोषण किया’: उत्तर प्रदेश लॉ स्टूडेंट




पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता स्वामी चिन्मयानंद सरस्वती

“पूर्व केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता स्वामी चिन्मयानंद ने मेरा बलात्कार किया और एक साल तक मेरा शोषण किया,” यह बात शाहजहाँपुर के कानून की छात्रा ने सोमवार को कहा.

“स्वामी चिन्मयानंद ने मेरे साथ बलात्कार किया और एक साल तक मेरा शारीरिक शोषण भी किया,” छात्रा ने यह बात एक संवाददाता सम्मेलन में कही. पीटीआई के अनुसार संवाददाता सम्मलेन से संबोधन के समय छात्रा का चेहरा ढका हुआ था.

लोधी रोड पुलिस स्टेशन में दिल्ली पुलिस ने यह शिकायत दर्ज की है और इसे शाहजहांपुर पुलिस को भेज दिया है लेकिन शाहजहांपुर पुलिस बलात्कार का मामला दर्ज नहीं कर रही है.

“रविवार को, SIT ने मुझसे लगभग 11 घंटे पूछताछ की. मैंने उन्हें बलात्कार के बारे में बताया है।. उन्हें सब कुछ बताने के बाद भी, उन्होंने चिन्मयानंद को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया है,” पीटीआई के अनुसार छात्रा ने कहा.

4 सितंबर को, सुप्रीम कोर्ट ने शाहजहाँपुर के कानून की छात्रा और उनके भाई को बरेली विश्वविद्यालय से संबद्ध किसी अन्य लॉ कॉलेज में यह कहते हुए स्थानांतरित करने का आदेश दिया था, “हमारे लिए उनका भविष्य महत्वपूर्ण है”.

एक वीडियो में चिन्मयानंद के खिलाफ लगाए गए आरोपों के बाद महिला लापता हो गई थी और बाद में उसे राजस्थान में यूपी पुलिस ने पाया था.

शीर्ष अदालत के न्यायाधीशों ने कहा था कि महिला ने उस संस्था के खिलाफ कुछ शिकायतें की है जहां वह अध्ययन कर रही थीं और उनके माता-पिता को अपने बच्चों की सुरक्षा को लेकर कुछ आशंकाएं हैं.

छात्रा ने बताया कि इससे पहले जब उसके पिता ने चिन्मयानंद के खिलाफ शारीरिक शोषण के आरोप में मुकदमे की तहरीर दी थी तब मुकदमा दर्ज करना तो दूर, जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह ने उसके पिता को धमकी देते हुए चिन्मयानंद के रसूख का हवाला दिया और बेटी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराने को कहा. छात्रा ने कहा कि उसके पास सारे साक्ष्य मौजूद हैं. वह कॉलेज हॉस्टल के जिस कमरे में रहती थी उसे सील कर दिया गया है. उसे मीडिया के सामने खोला जाए. सही समय आने पर साक्ष्य (विडियो क्लिप) भी पेश किया जाएगा. छात्रा ने कहा कि उनहोंने अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा के लिए ही अपना वह विडियो वायरल किया था, जिसमें उसने चिन्मयानंद से जान का खतरा बताया था.

बता दें कि पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद के कॉलेज में एलएलएम की छात्रा ने 24 अगस्त को एक विडियो वायरल किया था जिसमें उनहोंने चिन्मयानंद पर आरोप लगाया था कि उसने उसकी और कई अन्य लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर दी है. इसके साथ ही उसने अपने और अपने परिवार की जान का खतरा बताया था. विडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने चिन्मयानंद के खिलाफ अपहरण और जान से मारने की धमकी की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया था। अगले दिन लड़की की लोकेशन दिल्ली के एक होटल में मिली थी। होटल के विडियो फुटेज में वह किसी लड़के के साथ देखी गई थी। बाद में वह युवती राजस्थान में मिली थी। उच्चतम न्यायालय के आदेश पर राज्य सरकार ने मामले की पड़ताल के लिए विशेष जांच दल गठित किया है, जो मामले की तफ्तीश कर रहा है।

(एजेंसियों से प्राप्त खबरों के आधार पर)

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!