नृपेंद्र मिश्र की प्रधान न्यायाधीश से मुलाकात की जांच हो : कांग्रेस




कांग्रेस नेता शांताराम नाईक. Image Courtesy: IANS.

मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी डेस्क

पणजी, 15 जनवरी | कांग्रेस नेता शांताराम नाईक ने सोमवार को कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के चार वरिष्ठ न्यायाधीशों की ओर से पिछले सप्ताह प्रेस वार्ता किए जाने के बाद से भाजपा में बेचैनी की स्थिति पैदा हो गई है। यही कारण है कि प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्र ने जल्दबाजी में प्रधान न्यायाधीश से उनके आवास पर मुलाकात की। नाईक ने इस घटना की जांच की मांग की है। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) पर न्यायपालिका में बखेड़ा खड़ा करने का आरोप लगाया है।

कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय में एक प्रेस वार्ता में नाईक ने कहा, “भाजपा किस स्तर पर न्यायापालिका में उत्पन्न विवाद के लिए जिम्मेदार है, इसकी तस्दीक इस बात से होती है कि प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्र प्रधान न्यायाधीश के आवास पर पहुंचे थे। उनको वहां क्या काम था? उन्होंने कहा कि इसकी जांच की जरूरत है।”

आनन-फानन में बुलाई गई प्रेस वार्ता में शीर्ष अदालत के चार वरिष्ठ न्यायाधीशों ने कथित तौर पर प्रधान न्यायाधीश की तरफ से सर्वोच्च न्यायाल में गड़बड़ी किए जाने का आरोप लगाया था। इसके तत्काल बाद मिश्र ने प्रधान न्यायाधीश से मुलाकात की।

–आईएएनएस

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!