कांग्रेस का घोषणापत्र और भाजपा का जवाब




मंगलवार को कांग्रेस ने अपना लोक सभा चुनाव 2019 का घोषणापत्र जारी किया. घोषणापत्र का फोकस तीन चीजों पर है. रोजगार को बढ़ावा, किसानों की मदद और महिला सुरक्षा पर जोर. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने घोषणापत्र लॉन्च पर सबसे ज्यादा जोर NYAY योजना पर दिया.

घोषणा पत्र की ख़ास बातें:

  • गरीब परिवारों को सालाना 72,000 की मदद
  • मनरेगा में 100 के बजाय 150 दिन की रोजगार गारंटी
  • किसानों के लिए अलग बजट
  • लोन न चुका पाने वाले किसानों पर क्रिमिनल केस नहीं, सिविल केस
  • मार्च 2020 तक 22 लाख सरकारी खाली पद भरने का वादा
  • 10 लाख युवाओं को ग्राम पंचायतों में नौकरी
  • कारोबार के लिए 3 साल कोई परमिशन नहीं – 3 साल बिना लाइसेंस कारोबार की छूट देंगे

घोषणापत्र के अवसर पर कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रेस का जवाब भी दिया. सबसे पहले कांग्रेस प्रवक्ता सुरजेवाला ने इंडिया टीवी के पत्रकार को प्रश्न करने को कहा और आखरी से दुसरे नंबर पर NDTV को मौक़ा मिला. यह सन्देश था कि पहले उन्हें मौक़ा दिया जाए जो भाजपा के प्रचार प्रसार में लगे हैं.

ज़्यादातर प्रश्न भाजपा के हिन्दू, आतंकवाद और राष्ट्रवाद जैसे मुद्दों को उठाने को लेकर था. प्रश्नों में था कि आप भाजपा के हिन्दू और राष्ट्रवाद के प्रश्नों को कैसे संबोधित करेंगे. प्रेस वाले पूछ रहे थे कि कहानी तो हिन्दू और राष्ट्रवाद का है तो यह कैसे चलेगा. इस पर राहुल ने कहा कि जनता के ये मुद्दे नहीं हैं. जनता के मुद्दे रोजगार, किसान की बदहाली इत्यादि है.

एक पत्रकार ने कहा कि NYAY के बारे में कहा जा रहा है कि यह हो ही नहीं सकता. इस पर उनहोंने कहा कि यह भाजपा से नहीं हो सकता लेकिन कांग्रेस इसे करेगी. उनहोंने कहा कि मनरेगा के बारे में भी यही कहा जा रहा था. हमने कर दिखाया. मध्य प्रदेश में हमने वादा किया था कि किसान का क़र्ज़ माफ़ कर देंगे हमने इसे 2 दिन में कर दिखाया. उसके बारे में भी वही बात हो रही थी कि यह नहीं हो सकता.

एक प्रेस के जवाब में उनहोंने कहा कि सब हिन्दू हैं लेकिन समस्या यहाँ बेरोजगार का है. समस्या यहाँ किसान का है.

NYAY की घोषणा होने के बाद कांग्रेस के विरोधियों ने इसे नाकाबिले अमल करार दे दिया. इसी क्रम में घोषणापत्र जारी होने के थोड़ी ही देर बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि ये देश को तोड़ने वाला घोषणापत्र है. खासकर उन्होंने जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 नहीं हटाने, AFSPA और देशद्रोह के कानून (धारा 124A) को खत्म करने के ऐलान का विरोध किया।

NYAY योजना कांग्रेस का गेम चेंजर हो सकता है लेकिन सवाल यह है कि क्या इस योजना की जानकारी गाँव गाँव तक पहुँच पाएगी. चुनाव 12 अप्रैल से शुरू है.

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!