कांग्रेस ने मणि शंकर अय्यर को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निकाला, राहुल ने कहा कांग्रेस की संस्कृति और विरासत अलग




(फ़ाइल फोटो)

-द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी डेस्क

नई दिल्ली, 07 दिसम्बर, 2017 कांग्रेस ने गुरुवार की रात पार्टी के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर की प्राथमिक सदस्यता निलंबित कर दी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘नीच’ कहने को लेकर उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने एक ट्वीट के माध्यम से यह जानकारी दी।



सुरजेवाला ने कहा, “कांग्रेस ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से मणिशंकर अय्यर को निलंबित कर दिया है और उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया है।”

उन्होंने कहा, “यह कांग्रेस पार्टी का गांधीवाद है और अपने प्रतिद्वंद्वियों के प्रति सम्मान की भावना है। क्या मोदीजी (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) कभी इस तरह की भावना दिखा सकते हैं?”

इससे पहले अय्यर ने प्रधानमंत्री को एक ‘नीच आदमी’ कहा था। उन्होंने इस शब्द का प्रयोग मोदी का भाषण सुनने के बाद आक्रोश में आकर कहा। मोदी ने अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में राहुल गांधी का नाम न लेते हुए कहा कि ‘कुछ लोगों को इस समय बाबा साहेब के बजाय भोले बाबा याद आते हैं।’ उनकी यह टिप्पणी राहुल के मंदिरों में जाने के संदर्भ में थी, जो अय्यर को नागवार गुजरी।

बाद में राहुल गांधी के ट्वीट करने के बाद अय्यर ने माफी मांगी। राहुल ने ट्वीट किया कि कांग्रेस पार्टी ऐसी भाषा का समर्थन नहीं करती और आशा करती है कि अय्यर माफी मांगेंगे।

इस बीच मोदी ने ‘आदमी’ की जगह ‘जाति’ शब्द का इस्तेमाल करते हुए गुजरात की एक जनसभा में कहा कि उन्हें ‘नीच जाति’ का कहा गया है, जो गुजरात का अपमान है।

अय्यर ने कहा कि वह ‘नीच’ शब्द के वास्तविक निहितार्थ को समझ नहीं सके। उन्होंने इसका इस्तेमाल एक हिंदी भाषी वक्ता के रूप में नहीं किया था।

अय्यर की टिप्पणियों की निंदा करते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कहा कि उनकी टिप्पणी ने कांग्रेस की सामंती अभिमान और चापलूसी का पुनर्मिलन किया है।

-आईएएनएस

 

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!