सबरीमाला मंदिर पर स्मृति ईरानी का विवादित बयान, हुआ बिहार में परिवाद दर्ज




मुंबई में ब्रिटिश डिप्टी हाई कमीशन और ऑबजर्वर रिसर्च फाउंडेशन द्वारा आयोजित यंग थिंकर्स कॉन्फ्रेंस में स्मृति ईरानी द्वारा दिए गए​ विवादास्पद बयान को लेकर काफी विवाद बढ़ गया। जिसको लेकर इनके खिलाफ बिहार में परिवाद दर्ज किया गया है।

कॉन्फ्रेंस में स्मृति ने कहा, ”मैं मौजूदा केंद्रीय मंत्री हूं इसलिए मैं सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर टिप्पणी नहीं कर सकती। लेकिन मुझे लगता है कि मेरे पास पूजा करने का अधिकार है, लेकिन पूजा-स्थल को अपवित्र करने का नहीं।”

इसके अलावा उन्होंने आगे अपने बयान में कहा कि ”क्या आप महावारी के खून से सने सेनेटरी नेपकिन को लेकर अपने दोस्त के घर जाएंगी? आप नहीं जाएंगी। तो फिर भगवान के घर क्यों जाना चाहती हैं? यही वह अंतर है।’ उन्होंने ये भी कहा कि ये उनकी व्यक्तिगत राय है।”



हालांकि इस बयान के बाद परिवाद अधिवक्ता ठाकुर चंदन सिंह ने अपनी अर्जी सीतामढ़ी कोर्ट में दाखिल किया है जहाँ उन्होंने इसके पीछे स्मृति के बयान को आपत्तिजनक बताया है। इस मामले में सबरीमाला मंदिर के बाहर प्रदर्शन कर रहे लोगों को भी अभियुक्त बनाया गया है।

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!
Become a patron at Patreon!