#DelhiBurning: सड़क के एक ओर पैरामिलिट्री कर रही मार्च दूसरी तरफ दंगाइयों का नंगा नाच




भाजपा नेता भीड़ को उकसाते हुए (दाएं) और एक मुस्लिम व्यक्ति को लहूलुहान करती भीड़ (साभार: रायटर्स और सोशल मीडिया)

कल जब से भाजपा के हारे हुए विधायक और पूर्व आप नेता कपिल मिश्रा ने भारी पुलिस बल के बीच मीडिया की उपस्थिती में दिल्ली पुलिस को अल्टीमेटम दिया है तब से ही जाफराबाद के आस-पास का इलाका बेहद तनावपूर्ण हो गया है.

कल कपिल मिश्रा ने अपने ट्वीट में था कहा कि वह दूसरा शाहीन बाग़ नहीं बनने देंगे.

इससे पहले उनहोंने भीड़ को संबोधित करते हुए प्रदर्शनकारियों को धमकाया था कि अगर वह तीन दिन के अंदर जाफराबाद और आस पास से धरने खत्म नहीं करते तो हम पुलिस की भी नहीं सुनेगे. ऐसा उनहोंने पुलिस के डिप्टी कमिश्नर की उपस्थिति में कहा था.

मौजपुर में रहने वाले वाले लोगों ने द मोर्निंग क्रॉनिकल को बताया कि जब से कपिल मिश्रा ने सीलमपुर और मौजपुर के इलाके में लोगों को भड़काया है तब से दक्षिण पंधी दंगाइयों का मनोबल बढ़ा है और वह पुलिस से डरे बगैर तांडव कर रहे हैं.

वायरल हो रहे वीडियो और फ़ोटो में बेहद भयावह तस्वीरें आ रही हैं. ट्विटर पर लोग कपिल मिश्रा को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं लेकिन अब तक उन्हें गिरफ्तार नहीं किया गया है.

सीलमपुर में रहने वाले जलील ने बताया कि कपिल मिश्रा जब अपने ज़हरीले चुनावी कैंपेन के बाद भी हार गए और भाजपा को तमाम प्रयासों के बावजूद भी जब मात्र 8 सीटें मिलीं तो वह अब संविधान बचाने और नागरिक अधिकारों के लिए हो रहे धरनों को हिन्दू-मुस्लिम में तब्दील करके पूरी दिल्ली को दंगे में झोंक देना चाहते हैं. उनहोंने द मोर्निंग क्रॉनिकल को बताया कि उनकी पत्नी का डायलिसिस नोएडा में आज होना था जिसे उनहोंने बहुत डरते डरते करवाया और उन्हें पूरे रास्ते किसी अनहोनी की आशंका सता रही थी. उनहोंने यह भी बताया कि अभी सारे बच्चों की परीक्षा चल रही है वह भी प्रभावित हो रहा है.

शाहीन बाग ऑफिशियल की ओर से एक वीडियो शेयर किया गया है जो चाँदबाग़ का है जिसमें चारो ओर आगजनी दिख रही है. इस वीडियो में दंगाई उपद्रव फैलाने के दौरान जय श्री राम का नारा लगा रहे हैं.

एक अन्य वीडियो में कदमपूरी का वीडियो दिखाया जा रहा है जिसमें यह दावा किया गया है कि वहां के टायर बाज़ार को जला दिया गया है.

एक वीडियो में उपद्रवी पुलिस पर पिस्तौल ताने दिख रहे हैं लेकिन पुलिस का वह जवान वहां से हिल नहीं रहा है. इसके बाद पुलिस के जवान पर कई राउंड गोलियां चलाई गईं. इसमें यह भी देखा जा सकता है कि उपद्रवियों के सामने पुलिस कितना बेबस महसूस कर रही है.

सूत्रों और वहां के लोगों के अनुसार, कल रात से हिन्दू घरों में भगवा झंडा लगाए जा रहे हैं ताकि हिन्दू घरों की पहचान हो सके. वहां के लोगों का कहना है कि यह दंगा पूरी तरह से नियोजित है और यह अभी और फैलने की संभावना है.

एक और वायरल हो रहे वीडियो में यह देखा जा रहा है कि सड़क की एक तरफ अर्द्ध सैनिक बल मार्च कर रही है और वहीँ सड़क के दूसरी तरफ़ उपद्रवी भगवा झंडे के साथ दंगा फैला रहे हैं.

दंगाइयों के कारनामे के वीडियो और फ़ोटो के साथ ट्विटर पर #DelhiBurning यानी दिल्ली जल रहा है ट्रेंड कर रहा है.

यह सब तब हो रहा है जब सुप्रीम कोर्ट ने शाहीन बाग़ के प्रदर्शनकारियों से सडक खाली कराने के लिए तीन वार्ताकार नियुक्त किए हैं और उनकी उनसे वार्ता अभी चल रही है. हालंकि शाहीन बाग़ के प्रदर्शनकारियों का यह कहना है कि सड़क को दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा के नाम पर जाम कर रखा है.

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!