1984 दंगा: दोषी यशपाल को फांसी, नरेश सहरावत को उम्रकैद




नई दिल्ली : दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने 1984 सिख विरोधी दंगों के मामलों में दोषी करार देते हुए दो लोगों में से एक को फांसी और दूसरे को उम्रकैद की सजा सुनाई है।

पिछले 15 नवम्बर को सुनवाई के दौरान पीड़ित पक्ष की ओर से वकील एचएस फुल्का ने दोषियों को फांसी की सजा देने की मांग की थी। 15 नवम्बर को सुनवाई पूरी होने के बाद जब दोनों दोषियों को कोर्ट से बाहर निकाला जा रहा था, उसी समय दिल्ली के विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने एक आरोपित को पुलिस की मौजूदगी में थप्पड़ जड़ दिय बाद कोर्ट परिसर में अफरातफरी मच गई।



गौरतलब रहे कि 15 नवम्बर को कोर्ट ने सजा की अवधि पर फैसला सुरक्षित रख लिया था। मामले की संजीदगी को देखते हुए पटियाला हाउस कोर्ट में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई थी।

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!