विद्यार्थियों को रोजगार योग्य बनाना विश्वविद्यालयों की प्राथमिकता : कोविंद




-द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी डेस्क

गांधीनगर, 21 जनवरी, 2017 | राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रविवार को यहां कहा कि विद्यार्थियों को रोजगार पाने योग्य बनाना विश्वविद्यालयों की पहली प्राथमिकता होनी चाहिए। उन्होंने गुजरात विश्वविद्यालय के कार्यक्रमों के जरिए कई नए उद्यमियों की मदद करने की प्रशंसा की। विश्वविद्यालय के 66वें दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, “गुजरात विश्वविद्यालय अपने स्टार्ट-अप और उद्यमिता परिषद के माध्यम से कई नए उद्यमियों को मदद कर रहा है।”



उन्होंने कहा, “कौशल विकास परिषद की स्थापना विद्यार्थियों को सशक्त बनाने की ओर उठाया गया एक स्वागत योग्य कदम है। आज के विश्वविद्यालयों की पहली प्राथमिकता विद्यार्थियों को रोजगार, स्वरोजगार और उद्यमिता के योग्य तैयार करने की होनी चाहिए।”

राष्ट्रपति ने कहा कि अहमदाबाद में कई अच्छे संस्थान हैं, जो स्टार्ट-अप संस्कृति का प्रसार करते हैं।

उन्होंने कहा कि अभी हाल ही में भारत और इजरायल के प्रधानमंत्रियों ने अहमदाबाद में अंतर्राष्ट्रीय उद्यमिता एवं प्रौद्योगिकी केंद्र (आई क्रिएट) का उद्घाटन किया है। उन्होंने कहा कि यह भारत के युवा उद्यमियों को सहायता देने के लिए विश्व-स्तर की सुविधाएं प्रदान कराएगा और उन्होंने विद्यार्थियों से इसका लाभ उठाने का आग्रह किया।

-आईएएनएस

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!