नीरव मोदी को गुजरात कोर्ट ने किया भगोड़ा घोषित




Indian men stand next to a branch of the luxury jewellery store Nirav Modi in Mumbai on February 15, 2018. Indian investigators on February 15 raided the premises of a billionaire jeweller accused of defrauding one of the country's biggest banks. Enforcement Directorate (ED) officers searched the Mumbai offices of Nirav Modi after he was accused of cheating state-owned Punjab National Bank (PNB) of 2.8 billion rupees ($43.8 million). / AFP PHOTO / Indranil MUKHERJEE (Photo credit should read INDRANIL MUKHERJEE/AFP/Getty Images)

नीरव मोदी के खिलाफ मार्च में दायर 52 करोड़ रुपये के सीमा शुल्क से बचने के एक मामले में अदालत ने उसे ‘भगोड़ा’ घोषित किया है. कोर्ट ने हीरा कारोबारी को 15 नवंबर तक हाजिर होने का आदेश दिया है.

सूरत की अदालत के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (सीजेएम) बी.एच. कपाड़िया ने सीमा शुल्क विभाग की 8 अगस्त की याचिका को स्वीकार करते हुए हीरा कारोबारी को अगले गुरुवार को अदालत के सामने पेश होने को कहा है.

बता दें कि नीरव मोदी पंजाब नेशनल बैंक को 13,500 करोड़ रुपये की चपत लगाने के मामले में मुख्यारोपी है. सीमा शुल्क उपायुक्त आर.के. तिवारी ने नीरव मोदी और उसकी तीन कंपनियों-फायरस्टार डायमंड इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड, फायरस्टार इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड और रडाशीर ज्वेलरी कंपनी प्राइवेट लिमिटेड के खिलाफ एक याचिका दायर की थी.

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!