जमाल खशोगी हत्या मामले में गरमाई अंतराष्ट्रीय सियासत




सऊदी अरब के विदेश मंत्री ने पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के मामले की जांच से सच सामने आने की बात कही है। उन्होंने यह संकल्प भी जताया कि ऐसा तंत्र बनाया जाए ताकि इस तरह की घटना दुबारा ना हो पाए।

मंगलवार को तुर्की के राष्ट्रपति अपने देश की जांच में सामने आए तथ्यों को संभवत: सामने रखने हुए अल जुबेर ने कहा कि सऊदी अरब यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है, कि जांच गहराई से हो, पूरी हो, सच सामने आए तथा जिम्मेदार लोगों को जवाबदेह ठहराया जाए।

इतना ही नहीं तुर्की के विदेश मंत्री ने कहा कि अगर अंतरराष्ट्रीय निकाय सऊदी अरब के पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या की स्वतंत्र जांच करें तो तुर्की उनके साथ सहयोग करेगा।



सऊदी अरब ने स्वीकार किया था कि खशोगी की दो अक्टूबर को इस्तांबुल में स्थित उसके वाणिज्य दूतावास के दौरे में, मौत हो गई थी। सऊदी अरब ने कहा था कि उनकी मौत झगड़े में हुई थी। वहीं तुर्की के अधिकारियों का कहना है कि सऊदी अरब की एक टीम ने 59 वर्षीय खशोगी पर हमला कर उनको मार डाला।

हालांकि दो दिन पहले इस मामले में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि उनका मानना है कि बागी पत्रकार जमाल खशोगी की मौत ‘‘योजना’’ में गड़बड़ी के कारण हुयी । साथ ही उन्होंने इस मुद्दे को लेकर सऊदी अरब के साथ 110 अरब डॉलर का हथियार सौदा खत्म करने का भी विरोध किया।

(इनपुट भाषा)

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!