सीवर कर्मचारियों की नहीं, संविधान की हो रही मौत: योगेंद्र यादव




सीवर की सफाई करते समय हो रही मौतों के खिलाफ मंगलवार को दिल्ली के जंतर-मंतर पर हुए एक प्रदर्शन किया गया। इस प्रदर्शन में योगेंद्र यादव भी शामिल हुए।

प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए योगेंद्र यादव ने कहा कि सीवर लाइन के नालों में सफाई कर्मचारियों की नहीं, इस देश के संविधान की आत्मा मर रही है। ऐसा तब हो रहा है कि जब सरकार ने इसे अवैध घोषित कर रखा है। इसे सिर्फ सरकार पर दोष देकर खत्म नहीं किया जा सकता। इसे खत्म करने के लिए इस समाज को भी अपनी भूमिका निभानी होगी।

हाल ही में दिल्ली में सीवर लाइन की सफाई करते हुए लगभग 6 कर्मचारियों की मौत हो गई थी। इन कर्मचारियों के परिवार के लोगों ने बताया कि अब उनके परिवार में कमाने वाला कोई नहीं रह गया है। आगे की जिंदगी जीने के लिए उनके लिए रोजगार का कोई दूसरा साधन नहीं है। उन्हें इस बात का डर है कि कहीं बाद में उनके बच्चों को भी इसी पेशे को न अपनाना पड़े।

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!