जीतन राम मांझी की पार्टी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा ने राजग से नाता तोड़ा, राजद-कांग्रेस का हाथ थामा




पटना (बिहार), 28 फरवरी, 2018 (टीएमसी हिंदी डेस्क) | बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की अगुवाई वाले हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा-सेकुलर ने बुधवार को भाजपानीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से अलग होने की घोषणा कर दी और कहा कि वह महागठबंधन में शामिल होने जा रहा है। मांझी ने कहा, “मेरी पार्टी ने राजग से नाता तोड़ लिया है और हम महागठबंधन में शामिल होंगे। हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा-सेकुलर ने राजग से अपने रास्ते अलग कर लिए हैं।”



बदले हालात में बिहार में महागठबंधन का अर्थ अब कांग्रेस व राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के साथ-साथ हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा-सेकुलर व शरद यादव के नेतृत्व वाला जनता दल युनाइटेड का हिस्सा होने जा रहा है।

इससे पहले, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा-सेकुलर के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने आईएएनएस को बताया, “हम राजग से अलग हो गए हैं।” उन्होंने कहा कि हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा-सेकुलर राष्ट्रीय जनता दल के नेतृत्व वाले महागठंबधन में शामिल हो रहा है।

इससे पहले दिन में राजद नेता तेजस्वी यादव और उनके बड़े भाई तेज प्रताप यादव ने मांझी से मुलाकात की थी।

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और राजद प्रमुख लालू प्रसाद की पत्नी राबड़ी देवी ने कहा, “मांझी भाजपानीत राजग में घुटन महसूस कर रहे थे। उनकी पार्टी मांझी का महागठबंधन में स्वागत करती है। वह जिस सम्मान के हकदार हैं, उन्हें यहां वह सम्मान दिया जाएगा।”

मांझी 2015 में जनता दल-युनाइटेड से अलग हो गए थे। उसी साल उन्होंने हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा-सेकुलर का गठन किया और 2015 में बिहार विधनासभा चुनाव होने से पहले राजग के साथ गठबंधन किया था।

-आईएएनएस

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*