आरएसएस मित्र WhatsApp ग्रुप पर हुई जेएनयू हमले की तैयारी? VC अपना है इसका आश्वासन दिया गया




जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (Jawaharlal Nehru University) में रविवार शाम लाठी-डंडों और तेज़ धार वाले हथियारों से लैस करीब 50 नकाबपोश बदमाशों ने छात्रों व शिक्षकों पर हमला कर दिया. हमलावरों में लड़कियां भी शामिल थीं. आरोपियों ने हॉस्टल में तोड़फोड़ की और वहां खड़ी कारों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया. इस हमले में JNUSU अध्यक्ष आइशी घोष (Aishe Ghosh) बुरी तरह घायल हो गईं. हमले में कुल 24 लोग घायल हुए हैं. इनमें 5 शिक्षक व 19 छात्र हैं.

दिल्ली पुलिस ने बताया कि सभी घायलों की स्थिति खतरे से बाहर है. घायल छात्रों ने ABVP कार्यकर्ताओं पर मारपीट का आरोप लगाया है. वहीं, ABVP नेताओं का आरोप है कि लेफ्ट विंग के छात्रों ने उनके साथ मारपीट की है. उनके कुछ कार्यकर्ता अस्पताल में भर्ती हैं. घटना के बाद JNU कैंपस में पत्रकारों से भी मारपीट की गई. इस घटना के कई वीडियो सामने आए हैं.

दिल्ली पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है. दिल्ली पुलिस को इस मामले में कई शिकायतें मिली थीं, जिन्हें जोड़कर एक केस बनाया गया है. पुलिस ने कुछ हमलावरों की पहचान भी कर ली है. पूरे मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी गई है. पुलिस ने जेएनयू प्रशासन ने सीसीटीवी फुटेज मांगे हैं.

वहीं, जेएनयू में हुई हिंसा के पीछे क्या कोई साज़िश है. ये बात शक के दायरे में आ जाती है. क्योंकि हिंसा से पहले कई व्हाट्सऐप मैसेजेज़ चल रहे थे. जो सामने आए हैं. ये जांच का मुद्दा है. और हम इन व्हाट्सऐप मैसेज की पुष्टि नहीं करते हैं. इनमें से दो WhatsApp ग्रुप Friends of RSS और Unity Aginst Left के कुछ संदेशों के स्क्रीनशॉट वायरल हुए हैं जो इस तरह से हैं:

Friends of RSS ग्रुप से आए संदेश

-कृपया लेफ्ट आतंक के ख़िलाफ़ एक जुट होने के लिए इस ग्रुप से जुड़ें.

-अब पकड़ कर इन लोगों को मार लगनी चाहिए

-बस एक ही दवा है

-DU के लोगों की एंट्री आप खाजन सिंह स्विमिंग साइड से करवाइए

-मॉल गेट भी है

-ICSSR से भी एंट्री है

Unity Against Left ग्रुप से आए संदेश

-तुम कहाँ हो

-साबरमती के पीछे

-क्या स्टेटस है अभी

-पुलिस तो नहीं आ गया

-भाई इस ग्रुप में भी लेफ्टिस्ट आ गए

-लिंक क्यों शेयर किया गया

-नहीं VC ने एंट्री मना किया है, VC अपना है

-कैसा रहा आजका मैच

-अब तक बढ़िया. गेट पे कुछ करना चाहिए

इन सबके स्क्रीनशॉट हमारे पास हैं. हम इसे शेयर नहीं कर सकते क्योंकि हम सच्ची पत्रकारिता करते हैं और इसके नंबर को हम प्रकाशित नहीं करना चाहते.

कैसे शुरू हुआ हंगामा?

– पिछले कुछ दिन से कैम्पस में तनाव

– कुछ दिन पहले ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू हुआ

– अगले सेमेस्टर के लिए रजिस्ट्रेशन हो रहा था

– रविवार सुबह तक 2200 छात्रों का रजिस्ट्रेशन

– दोपहर में लेफ़्ट से जुड़े छात्र कंप्यूटर रूम पहुंचे

– लेफ़्ट के छात्रों पर डेटा केबल्स खींचने का आरोप

– लेफ़्ट और राइट विंग के छात्रों के बीच बहस हुई

– शाम 4 बजे JNU में ज़बरदस्त हंगामा

– हथियारों से लैस नकाबपोश कैम्पस में देखे गए

– बदमाशों ने महिलाओं से दुर्व्यवहार किया

– नक़ाबपोश बदमाशों ने छात्र-छात्राओं को जमकर पीटा

– लोहे की रॉड लेकर हॉस्टल में घुसे बदमाश

– हॉस्टल में जमकर तोड़फोड़ की गई

– JNUSU की अध्यक्ष को बुरी तरह पीटा

– एक महिला टीचर के सिर में चोट आई

– हिंसा के लिए ABVP पर आरोप लगाया

– पुलिस देर तक कैंपस के बाहर खड़ी रही

(NDTV से कुछ इनपुट के साथ)

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*