कविंद्र गुप्ता बने जम्मू एवं कश्मीर के उपमुख्यमंत्री, कहा कठुआ काण्ड छोटी सी घटना




जम्मू कश्मीर के नए उप मुख्यमंत्री कविन्द्र गुप्ता (साभार: एनडीटीवी)
महबूबा मुफ़्ती से कौन से न्याय की अपेक्षा की जाए जब उनके उप-मुख्यमंत्री ही यह कहते हैं कि 8 वर्षीय बच्ची का बलात्कार और हत्या छोटी घटना है और इस पर मीडिया को भाव नहीं देना चाहिए: उमर अब्दुल्लाह

जम्मू (जम्मू और कश्मीर), 30 अप्रैल, 2018 (टीएमसी हिंदी डेस्क)| जम्मू एवं कश्मीर मंत्रिमंडल में सोमवार को हुए फेरबदल के तहत विधानसभा अध्यक्ष कविंद्र गुप्ता ने राज्य की पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार में नए उपमुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली है। उन्होंने निर्मल सिंह के स्थान पर यह पद ग्रहण किया है। भाजपा की ओर से कुछ नए चेहरों – राजीव जसरोटिया, सुनील कुमार शर्मा, देवेंद्र कुमार मणियाल और शक्ति राज परिहाल के साथ ही राज्य की पार्टी इकाई के प्रमुख सतपाल शर्मा को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है।

राज्यपाल एन.एन.वोहरा ने जम्मू कन्वेंशन सेंटर में कविंद्र गुप्ता को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई।

भाजपा ने मंत्रिमंडल से अपने तीन मंत्रियों निर्मल सिंह, बाली भगत और प्रिया सेठी को मंत्रिमंडल से हटा दिया है।

उल्लेखनीय है कि कठुआ दुष्कर्म और हत्या मामले में आरोपियों के समर्थन में निकाली गई रैली में शामिल होने के बाद भाजपा के दो मंत्रियों चंद्र प्रकाश गंगा और चौधरी लाल सिंह ने इस्तीफा दे दिया था। उनके इस्तीफे के बाद भाजपा के सभी मंत्रियों ने सरकार से इस्तीफा दे दिया था। हालांकि कठुआ विधायक राजीव जसरोटिया का पदोन्नती कर उन्हें मंत्री बना दिया गया है जिनके बारे में भी कहा जा रहा था कि कठुआ काण्ड के आरोपियों को बचाने वाले कार्यक्रम में वह भी मौजूद थे।

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्लाह ने इस पर ट्वीट किया है। “बलात्कारी के समर्थन में निकाली गयी रैली में शामिल दो भाजपाई मंत्रियों को निकाल दिया गया जबकि एक विधायक जिनके उसी रैली में मौजूद होने की ख़बर थी को पदोन्नति देकर मंत्री बना दिया गया। भाजपा/महबूबा मुफ़्ती बलात्कार काण्ड पर अपने मत को लेकर इतना उलझन में क्यों हैं?” उमर अब्दुल्लाह ने ट्वीट किया।

जम्मू कश्मीर के नए उप-मुख्य मंत्री कवीन्द्र गुप्ता ने शपथ लेने के फ़ौरन बाद कहा कि “कठुआ काण्ड छोटी मोटी घटना है इसको इतना भाव नहीं देना चाहिए।” इनके इस बयान से एक बार फिर जम्मू कश्मीर की राजनीति में उबाल आया है। कई लोगों ने इस बयान को लेकर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

उमर अब्दुल्लाह ने इस बयान पर ट्वीट किया है। उन्होंने कहा “महबूबा मुफ़्ती से कौन से न्याय की अपेक्षा की जाए जब उनके उप-मुख्यमंत्री ही यह कहते हैं कि 8 वर्षीय बच्ची का बलात्कार और हत्या छोटी घटना है और इस पर मीडिया को भाव नहीं देना चाहिए।”

कश्मीर के वरिष्ठ पत्रकार शुजा-उल-हक ने भी ट्वीट किया है। “तो आज से आगे 8 साल की बच्ची का अपहरण, नशाखुरानी, सामूहिक बलात्कार और हत्या मामूली घटना है,“ हक ने ट्वीट किया है।

पीडीपी ने भी अपने वरिष्ठ नेता एवं कानून एवं ग्रामीण विकास मंत्री अब्दुल हक खान को मंत्रिमंडल से बाहर का रास्ता दिखा दिया जबकि पुलवामा से विधायक मुहम्मद खलील बंध और श्रीनगर से विधायक मुहम्मद अशरफ मीर ने कैबिनेट मंत्रियों के रूप में शपथ ली।

राज्य के संविधान के अनुरूप जम्मू एवं कश्मीर मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री सहित सिर्फ 25 मंत्री ही शामिल हो सकते हैं।

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!