बिहार: कुशवाहा और शरद में नहीं बन पा रही सीट शेयरिंग पर सहमती




शरद और उपेन्द्र (बाएँ)

महागठबंधन में जैसे जैसे भीड़ बढती जा रही है वहां सीट शेयरिंग को लेकर भी संशय बढ़ता जा रहा है. महागठबंधन में नए नए शामिल हुए उपेन्द्र कुशवाहा की पार्टी रालोसपा और पहले से शामिल शरद यादव की पार्टी लोकतात्रिक जनता दल में सीट शेयरिंग को लेकर बातचीत अब तक कोई नतीजे पर नहीं पहुंची.

सूत्रों के अनुसार एनडीए से टूटकर अलग हुए उपेन्द्र कुशवाहा की पार्टी रालोसपा (राष्ट्रीय लोक समता पार्टी) और शरद यादव की लोकतान्त्रिक जनता दल (एलजेडी) का विलय थम गया है. इसके पीछे जेल में बंद आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद का आखरी फैसला न आना बताया जा रहा है.

सूत्रों के अनुसार दोनों नेताओं में बात-चीत चल रही है. उपेन्द्र कुच्वाहा लोकसभा 2019 में पार्टी के लिए 6 सीट की मांग कर रहे हैं जबकि शरद यादव मधेपुरा सहित तीन सीटो पर दावा कररहे हैं.



सूत्रों के मुताबिक महागठबंधन के नेताओं की मुलाक़ात लालू प्रसाद से हो चुकी है और अंतिम निर्णय 15 जनवरी तक आ सकती है.

जानकारी के मुताबिक, शरद यादव सीट शेयरिंग के मामले को लेकर लालू प्रसाद से 5 जनवरी को उनसे जेल में मिलेंगे.

हालांकि, दोनों ओर के नेता ही महागठबंधन में सब ठीक ठाक हो जाएगा पर भरोसा रखे हुए हैं. लोकतान्त्रिक जनता दल के नेता अली अनवर का कहना है कि “हम रालोसपा के साथ विलय की बात कर रहे हैं. समय पर सब हो जाएगा. हमारा लक्ष्य महागठबंधन को भाजपा के खिलाफ एक मज़बूत ताक़त के तौर पर उभारना है.”

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*