सांसद मनोज तिवारी का अनुष्का संग भोजपुरी गाना




वाराणसी: मनोज तिवारी, दिल्ली भाजपा प्रमुख का अनुष्का शर्मा के लिए उनकी फ़रमाइश पर गाना और उनके चरणों में अपना डांस अर्पित करना कोई अचंभे की बात नहीं हो अगर उनके पिछले आचरण को न देखा जाए तो। लेकिन जिस किसी ने मनोज तिवारी को भरी सभा में एक शिक्षिका को गाने की मांग को लेकर बेईज्ज़त करते हुए और उस शिक्षिका पर भरी सभा में अपने अधिकारी को कारवाई करने के लिए आदेश देते हुए देखा होगा तो वह तो यही कहेगा कि इस आचरण में दोहरा मापदंड क्यों? क्या सिर्फ इसलिए कि वह शिक्षिका आम जनता थी और उनकी प्रशंसक थी।

10 मार्च को एक कार्यक्रम में मंच पर दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी को एक शिक्षिका ने गाना गाने का अनुरोध किया तो यह इन्हें बहुत नागवार गुजरा था. तिवारी ने टीचर को फटकार लगाते हुए मंच से उतर जाने का और उन पर अधिकारी से कारवाई करने का फरमान सुना डाला. उनहोंने यहाँ तक कह डाला कि आप सांसद से गाना गाने को कहोगी। बेचारी शिक्षिका की तो पूरी इज्ज़त ही धो डाली और यह उस पार्टी के सांसद ने की जो बेटी बचाओ, उज्ज्वला और कई योजनाएं का संचालन महिलाओं को अपना वोटर बनाने की मंशा से कर रहे हैं।

उसी माननीय सांसद और दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने आज शाहरुख़ खान और अनुष्का शर्मा अभिनीत फ़िल्म जब हैरी मेट सैजल के प्रमोशन पर अनुष्का शर्मा को रिझाने के लिए मोदी की संसदीय नगरी में खूब लॉलीपॉप वाला गाना गाया और शाहरुख़ खान को सिखाया भी तो उनसे शिक्षिका रूपी जनता का सवाल तो बनता ही है कि क्या फर्क था उस महिला की फ़रमाइश में और अनुष्का शर्मा की फ़रमाइश में – बस क्लास का?

क्लास का फ़र्क नेताओं को खूब समझ में आता है. अभी कुछ दिन पहले ही नोयडा में हुए अभिजात्य वर्ग और झोपड़ पट्टी में रहने वाले लोगों के बीच के संघर्ष में भाजपा के संस्कृति मंत्री महेश शर्मा ने अभिजात्य वर्ग का पक्ष केवल लिया ही नहीं बल्कि झोपड़ पट्टी में रह रहे ग़रीब और बेसहारा लोगों का मज़ाक़ भी उड़ाया था. महेश शर्मा ने क्या कहा scroll.in द्वारा प्रकाशित उनकी ऑडियो आप खुद ही सुनिए.

बेचारी मामूली सी शिक्षिका ने यह नहीं सोचा कि मनोज तिवारी के गाने की एक फीस होती है जो शाहरुख़ खान ने दी होगी. जनता और प्रशंसक तो बाद में आते हैं.

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!