मीसा भारती को ‘शूर्पनखा’ कहने पर जद-यू और राजद में ज़बानी महाभारत




राज्य सभा सांसद मीसा भारती (फ़ोटो: ट्विटर प्रोफाइल)

पटना (बिहार): राजद और जद-यू के बीच जबानी जंग अब तेज़ होती दिख रही है. दोनों ही पार्टी के नेताओं और प्रवक्ताओं की कम ओ बेश एक दुसरे पर राजनैतिक से लेकर व्यक्तिगत प्रहार करने की कहानियाँ मौजूद है. अब जद-यू प्रवक्ता और एमएलसी नीरज कुमार के लालू प्रसाद की बेटी और राज्य सभा सांसद मीसा भारती को शूर्पनखा कहने पर ज़बानी जंग तेज़ हो गयी है.

5 जनवरी को जद-यू प्रवक्ता ने मीसा भारती को अपने ट्वीट में महाभारत की असुर पात्र शूर्पनखा से संबोधित किया है. साफ़ मतलब है कि लालू प्रसाद को रावण और उनके बेटों की तुलना कारवों से की. नीरज ने अपने ट्वीट में लिखा “’भरतमिलाप’ में भरत पूरे परिवार के साथ जंगल मे राम को वापस लाने गए थे.परन्तु आज की स्थिति उलट है.. आज न केवल छोटा भाई सत्ता पर काबिज है, बल्कि बड़े भाई को वन-वन घूमने को बाध्य किया गया। ‘शूर्पणखा’ को एक क्षेत्र के मालिक बनाने पर भी कोई राजी नही.!! धन्य है प्रभु..! हरि ओम !!”

इसके बाद जदयू नेता ने एक और ट्वीट में शरद यादव और अन्य नेताओं की जेल में लालू प्रसाद से मुलाक़ात को लेकर भी निशाना बनाया था. उनहोंने लिखा “आज नेता सीट की चाहत में ताबड़तोड़ जेल जाकर दण्डवत कर रहे हैं!! इन नेताओं को जेल में बंद भ्रष्टाचारी से याचना करने में इनके ‘सम्मान’ को ठेस नही लग रही? हद है सत्ता भूख। अब तो ये नेता ‘भ्रष्टाचारी’परिवार का झोला ढोने तक को तैयार हैं। धन्य हैं सम्मनित नेता!”

अपने एक और ट्वीट में जद-यु प्रवक्ता ने लिखा “कलयुग आ गया है! जिस पार्टी के अध्यक्ष घोटाला में सजायाफ्ता,जिस पार्टी का MLAरेप में दोषी,पार्टी का पूर्व MP हत्या में दोषी,पार्टी की कमान संभाल रहे युवराज भ्रष्टाचार के आरोपी,उस पार्टी में अपनी हैसियत बनाने के लिए लोग दूसरी पार्टी को’गुंडों’की पार्टी कह रहे है..! हे प्रभु!”

नीरज के ट्वीट का जवाब देते हुए पूर्व उप-मुख्यमंत्री ने अपने ट्वीट में लिखा कि भगवान् नीतीश को सद्बुद्धि दे, प्रवक्ता तो वही कहते हैं जो उन्हें नीतीश कुमार उन्हें कहते हैं.

“भगवान आदरणीय नीतीश जी को सद्‌बुद्धि दे। बेचारे प्रवक्ता तो नियोजित मजबूर कर्मचारी है। शब्द और बोल तो नीतीश जी लिखकर देते है। सीएम आवास स्थित“Nitish Institute of Abuse, Misuse & Excuse Studies” मे इन्हें बैठाकर सिखाते है कि कब,किसे,कितनी मात्रा में और किस लहजे में गाली देनी है।“ तेजस्वी ने ट्वीट में लिखा.

इस पर फिर नीरज कुमार ने दो ट्वीट किया और कहा कि ये लोग महिषासुर कह कर मेरा वध करने की कह रहे थे और प्रधान मंत्री को कुछ भी कहते हैं तब इन्हें वह अमर्यादित नहीं लगता. मैंने तो बस आइना दिखाया.

“कुछ लोगो को आईना जरूर देखना चाहिए.. 2017के नवरात्र में जब अपनी माँ को’दुर्गा’बताकर मुझे ‘महिषासुर’कह वध करने की बात कही थी, वे आज ज्यादा परेशान हो रहे है। उस समय वह बयान मर्यादित लगा था।आज आईना दिखाया तो धमकी देते घूम रहे। धैर्य राखिये !! हे प्रभु!” नीरज ने ट्वीट कर लिखा.

इसके बाद नीरज ने एक और ट्वीट किया जिसमें उनहोंने लिखा “”हर रात मनती है, उनकी दीवाली की तरह, मैंने एक दीप जलाए, तो वे बुरा मान गए।” आप तो देश पीएम महोदय से लेकर राज्य के सीएम महोदय तक को नही छोड़ते, मैंने तो सिर्फ आईना दिखाया, और आपको तकलीफ हो गई ..?? धैर्य रखिये..!! हे प्रभु!!”

खैर जद-यु और राजद की जबानी जंग तो चलती ही रहेगी लेकिन यह ज़रूरी है कि दोनों ही ओर के नेता मर्यादित रहें.

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*