पूर्व नौसेना प्रमुख ने PM मोदी के राजीव से आईएनएस विराट संबंधित बयान को बताया ‘झूठ’, कहा




पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (बाएँ) और पूर्व नौसेना प्रमुख एल रामदास

दिल्ली के रामलीला मैदान में बुधवार को एक जनसभा के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajeev Gandhi) पर एक और सनसनीखेज आरोप लगाया था. पीएम मोदी का आरोप था कि राजीव गांधी ने प्रधानमंत्री रहते हुए विमानवाहक पोत INS विराट का इस्तेमाल एक द्वीप पर परिवार के साथ छुट्टी मनाने के लिए किया था. पीएम मोदी ने दावा किया था कि इसमें इटली से आए उनके रिश्तेदार भी शामिल हुए थे और INS विराट का इस्तेमाल टैक्सी की तरह किया गया था. पीएम मोदी के इस बयान को पूर्व ऐडमिरल एल रामदास ने झूठ बताया.

पूर्व नौसेना प्रमुख एल रामदास ने पीएम मोदी के इस बयान को झूठ बताते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajeev Gandhi) INS विराट (INS Viraat) पर सरकारी काम से गए थे. उन्होंने कहा कि राजीव गांधी INS विराट पर राष्ट्रीय खेल पुरस्कार वितरण में गए थे. उन्होंने कहा कि आरोप एकदम झूठा है. प्रधानमंत्री का वह सरकारी दौरा था. हम इस तरह के आरोप से व्यथित हैं. सेना किसी के निजी इस्तेमाल के लिए नहीं है.

पीएम मोदी ने कहा था, ‘आईएनएस विराट का इस्तेमाल एक निजी टैक्सी की तरह करके राजीव गांधी ने इसका अपमान किया था. यह तब हुआ जब राजीव गांधी एवं उनका परिवार 10 दिनों की छुट्टी पर गए हुए थे. आईएनएस विराट को हमारी समुद्री सीमा की रक्षा के लिए तैनात किया गया था, किन्तु इसका मार्ग बदल कर गांधी परिवार को लेने के लिए भेजा गया जो अवकाश मना रहा था.’

उन्होंने यह भी दावा किया था कि गांधी परिवार को लेने के बाद आईएनएस विराट द्वीप पर 10 दिनों तक खड़ा रहा. पीएम ने सवाल किया, ‘राजीव गांधी के साथ उनके ससुराल के लोग भी थे जो इटली से आए थे. सवाल यह है कि क्या विदेशियों को एक युद्धपोत पर ले जाकर देश की सुरक्षा के साथ समझौता नहीं किया गया?’ साथ ही उन्होंने कहा, ‘क्या यह कभी कल्पना की जा सकती है कि भारतीय सशस्त्र सेनाओं के प्रमुख युद्धपोत का इस्तेमाल निजी अवकाश के लिए एक टैक्सी की तरह किया जाए?’ विमान वाहक आईएनएस विराट को भारतीय नौसेना में 1987 में सेवा में लिया गया था. करीब 30 वर्ष तक सेवा में रहने के बाद 2016 में इसे सेवा से अलग किया गया.

पीएम मोदी के आरोपों पर पलटवार करते हुए कांग्रेस ने गुरुवार को कहा कि वह ‘आदतन झूठे’ हैं जिनमें बेरोजगारी और नोटबंदी जैसे मुद्दों पर चुनाव लड़ने का साहस नहीं है. कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि भारतीय नौसेना के वाइस एडमिरल (अवकाश प्राप्त) विनोद पसरीचा ने स्पष्ट कर दिया है कि तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी आधिकारिक यात्रा के सिलसिले में INS विराट पर सवार थे, वह कोई छुट्टियां नहीं थीं.

उन्होंने कहा, ‘लेकिन मोदी को तथ्यों से कोई फर्क नहीं पड़ता. उनके पास बात करने के लिए अपनी उपलब्धियां नहीं हैं. राहुल गांधी छह महीने से उन्हें राफेल सौदा, नोटबंदी, बेरोजगारी पर बहस करने की चुनौती दे रहे हैं, लेकिन मोदी में बोलने की हिम्मत नहीं है.’ दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री के खिलाफ आरोप लगाने के लिए मोदी पर चुटकी लेते हुए खेड़ा ने कहा कि कभी किसी ने पढ़ा है कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने कहा हो कि उनका अगला चुनाव मुगल बादशाह हुमायूं के खिलाफ है. या कभी इंदिरा गांधी ने अपनी पूरी चुनावी लड़ाई महारानी विक्टोरिया के खिलाफ लड़ी हो. उन्होंने कहा, लेकिन अब हम यह सब सुन रहे हैं. मोदी जी हमें बता रहे हैं कि 30 साल पहले राजीव गांधी आईएनएस विराट पर छुट्टियां मनाने गए थे. प्रधानमंत्री आदतन झूठे हैं.

लक्षद्वीप कांग्रेस ने अपने ट्वीट से एक चित्र साझा किया है जिसमें कहा गया है कि पूर्व प्रधान मंत्री राजीव गांधी वहां सरकारी यात्रा पर थे. चित्र में लक्षद्वीप के सांसद पीएम सईद के साथ राजीव गांधी जनजाति के कुछ लोगों से बात चीत कर रहे हैं.

उधर, वाइस एडमिरल (अवकाश प्राप्त) विनोद पसरीचा ने कुछ वक्त पहले चैनलों पर कहा कि यह झूठ है और प्रधानमंत्री सरकारी यात्रा पर थे, छुट्टी पर नहीं.’ इससे पहले भी मोदी ने बोफोर्स घोटाले का जिक्र करते हुए राजीव गांधी को ‘भ्रष्टाचारी नंबर एक’ बताया था.

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*