‘माइ वर्जिन डायरी’ में हिंदू कॉलेज की सच्ची कहानी : नलिन सिंह




-द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी डेस्क

नई दिल्ली, 19 जनवरी, 2018 | दिल्ली विश्वविद्यालय के हिंदू कॉलेज की साल 1994 की घटनाओं पर आधारित फिल्म ‘माइ वर्जिन डायरी’ वैश्विक स्तर पर डिजिटल प्लेटफॉर्म पर लॉन्च होने वाली पहली फिल्म है। निर्देशक नलिन सिंह का कहना है कि उनकी यह फिल्म वास्तविक घटनाओं पर आधारित है, लेकिन इसमें बेहद हल्के-फुल्के अंदाज में युवाओं के लिए आकर्षण, प्यार और यौन संबंधों को लेकर एक गंभीर संदेश दिया गया है।

‘माइ वर्जिन डायरी’ भारत के साथ ही अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा, पाकिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका सहित कई देशों के डिजिटल प्लेटफॉर्म पर शुक्रवार को लॉन्च हुई।

इस फिल्म के उद्देश्य के बारे में नलिन ने आईएएनएस को एक विशेष बातचीत में बताया, “यह फिल्म मेरे जीवन की घटना पर आधारित है। साल 1994 में दिल्ली विश्वविद्यालय के हिंदू कॉलेज में अरुण जैसवाल नामक छात्र ने आत्महत्या कर ली थी। वह मेरा दोस्त था और मेरे साथ ही हॉस्टल में रहता था। उन दिनों अरुण का संपर्क डीयू में अध्ययन करने आईं विदेशी छात्राओं से हुआ था। यह फिल्म उसके बाद के घटनाक्रमों को बयां करती है।”

यह फिल्म क्या किसी खास वर्ग के लिए है? इस पर नलिन ने कहा, “इसे हर कोई देख सकता है। चूंकि यह छात्रों के जीवन पर आधारित है, इसलिए इसे मां-बाप भी देख सकते हैं, जिनके बच्चे पढ़ रहे हैं और वह भी देख सकते हैं जो स्कूल से निकलकर कॉलेज में कदम रखने जा रहे हैं। दिल्ली के नॉर्थ कैंपस पर आधारित यह पहली फिल्म है जो दर्शकों का मनोरंजन करने के साथ ही उन्हें उस दौर की पुरानी यादों से रूबरू कराएगी। फिल्म में सिर्फ उत्तर प्रदेश और बिहार ही नहीं, पोलैंड और ब्राजील के विदेशी कलाकारों ने भी अभिनय किया है। मेरे मुताबिक शायद ही इससे पहले हमारे देश में हॉस्टल लाइफ पर कोई हिंदी फिल्म बनी है।”

फिल्म को केवल डिजिटली लॉन्च किए जाने के बारे में पूछे जाने पर नलिन ने कहा, “मेरी फिल्म का मुख्य बिंदु छात्र हैं और आजकल के छात्र मोबाइल या कंप्यूटर फिल्म देखना अधिक पसंद करते हैं। डिजिटल मीडिया का तेजी से विकास हो रहा है और यह एक सुलभ व सस्ता माध्यम है, इसलिए मैंने इसी माध्यम पर फिल्म को रिलीज करने के बारे में फैसला किया।”

‘माइ वर्जिन डायरी’ का डिस्ट्रीब्यूशन हंगामा डॉट कॉम के सहयोग से एशिया प्रशांत के ज्यादातर डिजिटल प्लेटफॉर्मो पर किया गया है। एनआरएआई प्रोडक्शन ने इस फिल्म को लेकर एयरटेल, बिगफ्लिक्स, नैटीवूड, सिनेमैटप्टेन डॉट कॉम के साथ अन्य कई डिजिटल प्लेटफॉर्म से करार किया है। यह फिल्म आई ट्यून, अमेजन और गूगल प्ले पर भी उपलब्ध होगी।

फिल्म के उद्देश्य के बारे में नलिन कहते हैं, “मैं इस फिल्म के माध्यम से अपने मित्र को श्रद्धांजलि अर्पित करना चाहता हूं। इस फिल्म में युवाओं को आकर्षण, प्यार और यौन संबंधों के प्रति एक गंभीर संदेश दिया गया है, जो उस दौर में कई तरह की स्थितियों से गुजर रहे होते हैं। मैं चाहता हूं कि आज के युवा ऐसी स्थितियों का डटकर मुकाबला करें।”

-आईएएनएस

 

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!