न्यूज़ीलैंड ने महिला पुलिस की वर्दी में हिजाब को किया शामिल




चित्र साभार (इन्स्टाग्राम/न्यूज़ीलैंड पुलिस)

न्यूजीलैंड पुलिस का कहना है कि उन्हें उम्मीद है कि इससे और अधिक मुस्लिम महिलाएं जुड़ सकेंगी

न्यूजीलैंड ने अधिक से अधिक मुस्लिम महिलाओं को पुलिस बल में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए अपनी आधिकारिक वर्दी में हिजाब को शामिल किया है।

बीबीसी यूके की वेबसाइट के अनुसार नई भर्ती कॉन्स्टेबल ज़ेना अली आधिकारिक तौर पर हिजाब पहनने वाली पहली अधिकारी बनेंगी।

एक प्रवक्ता ने कहा कि उनका उद्देश्य इसे देश की “विविध समुदाय” को दिखाने वाली “समावेशी” सेवा बनाना है।

अन्य बलों जैसे लंदन के मेट्रोपॉलिटन पुलिस और पुलिस स्कॉटलैंड में पहले से हिजाब सहित वर्दी का विकल्प उपलब्ध है।

यूके में, लंदन में मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने 2006 में और पुलिस स्कॉटलैंड ने 2016 में हिजाब वाली वर्दी को मंजूरी दी थी। ऑस्ट्रेलिया में, विक्टोरिया पुलिस की महा सुक्कर (Maha Sukkar) ने 2004 में हिजाब पहना था।

ऑस्ट्रेलियाई विक्टोरिया पुलिस की महा सुक्कर (Maha Sukkar)

न्यूजीलैंड पुलिस ने बताया कि माध्यमिक स्कूलों का दौरा करने वाले पुलिस कर्मचारियों के एक अनुरोध के बाद 2018 के अंत में वर्दी में हिजाब को शामिल करने का काम शुरू हुआ।

कॉन्स्टेबल अली अपनी वर्दी के हिस्से के रूप में हिजाब को शामिल करने का अनुरोध करने वाली पहली भर्ती थीं और उन्हें इसे विकसित करने के काम में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया था।

फिजी में पैदा होने के बाद बचपन में ही न्यूजीलैंड आ गईं कांस्टेबल अली ने न्यूजीलैंड हेराल्ड को बताया कि उनहोंने क्राइस्टचर्च आतंकी हमले के बाद पुलिस में शामिल होने का फैसला किया था।

“मैंने महसूस किया कि पुलिस में लोगों से मिलने और उनकी मदद के लिए अधिक मुस्लिम महिलाओं की आवश्यकता थी,” उनहोंने अख़बार को बताया।

उन्होंने कहा, “बाहर जाना और जाकर लोगों को दिखाना कि न्यूजीलैंड पुलिस की वर्दी में हिजाब है बड़ी बात है।” “मुझे लगता है कि इसे देखकर, अधिक मुस्लिम महिलाएं इसमें शामिल होना चाहेंगी।”

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!