नीतीश बीमार, प्रथम चरण की ‘विकास समीक्षा यात्रा’ स्थगित




नीतीश कुमार सुशिल मोदी की पुत्र वधु और बेटे को आशीर्वाद देते हुए (चित्र: ट्विटर)

-द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी डेस्क

पटना, 5 दिसंबर | बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सात दिसंबर से प्रारंभ ‘विकास समीक्षा यात्रा’ के प्रथम चरण की यात्रा स्थगित कर दी गई है। एक अधिकारिक बयान में कहा गया है, “मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अस्वस्थ रहने के कारण जिलावार विकास कार्यो की समीक्षा यात्रा जो सात एवं आठ दिसंबर को पश्चिमी चंपारण एवं पूर्वी चंपारण में प्रस्तावित थी, वह स्थगित कर दी गई है। अब यह यात्रा 13 दिसम्बर से प्रारंभ होगी।”



उल्लेखनीय है कि नीतीश की ‘विकास समीक्षा यात्रा’ सात दिसंबर से पश्चिम चंपारण जिले के बगहा प्रखंड के पलितार गांव से प्रारंभ होने वाली थी।

मुख्यमंत्री इस यात्रा के दौरान गांवों में जाकर विकास कार्यो को देखेंगे तथा जिलास्तरीय विकास योजनाओं की समीक्षा करेंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री कई विकास योजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास भी करेंगे।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जिलास्तरीय समीक्षा बैठक में विभागीय योजना, सात निश्चय से संबंधित योजनाओं की प्रगति, शराबबंदी, बाल विवाह मुक्त एवं दहेज उन्मूलन कार्यक्रम, बिहार लोक शिकायत निवारण कानून के क्रियान्वयन सहित विभिन्न कार्यक्रमों में की गई घोषणाओं का अनुपालन और अन्य विकास एवं कल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा की जाएगी।

नीतीश की यह यात्रा 18 जनवरी तक जारी रहेगी। इस दौरान कुछ दिनों के लिए मुख्यमंत्री पटना लौटेंगे और फिर कुछ दिनों के अंतराल पर पुन: यात्रा पर निकल जाएंगे। नीतीश इस यात्रा के अंतिम पड़ाव में 16 से 18 जनवरी के बीच नवादा, गया, औरंगाबाद और जहानाबाद जिले से करेंगे। इस दौरान मुख्यमंत्री सभी जिले में जाएंगे।

अपनी यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री शराबबंदी अभियान, दहेज उन्मूलन अभियान ,बाल विवाह मुक्ति अभियान से संबंधित विचार रख कर लोगों को इस अभियान के प्रति न सिर्फ जागरूक करेंगे, बल्कि सक्रिय भूमिका निभाने की भी अपील करेंगे।

उल्लेखनीय है कि नीतीश कुमार मुख्यमंत्री बनने के पूर्व से ही राज्य की यात्रा पर निकलते रहे हैं। वर्ष 2005 के विधानसभा चुनाव के पहले नीतीश ने ‘परिवर्तन यात्रा’ के नाम से अपनी यात्रा प्रारंभ की थी। वह मुख्यमंत्री बनने के बाद भी समय-समय पर यात्रा पर निकलते रहे हैं।

गौरतलब है कि नीतीश अपनी सभी यात्राओं की शुरुआत महात्मा गांधी की कर्मभूमि चंपारण से ही करते रहे हैं।

-आईएएनएस

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*