अविश्वास प्रस्ताव पर गतिरोध बरकरार, लोकसभा दिन भर के लिए स्थगित




नई दिल्ली, 21 मार्च, 2018 (टीएमसी हिंदी डेस्क) | लोकसभा में लगातार चौथे दिन बुधवार को भी हंगामे के कारण अविश्वास प्रस्ताव नहीं लाया जा सका। हालांकि, सरकार ने कहा कि वह इसके लिए तैयार है। अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के थोटा नरसिम्हन व वाईएसआर कांग्रेस के वाई.वी.सुब्बा रेड्डी ने दिया है।

शोरगुल के बीच दस्तावेजों के सदन पटल पर रखे जाने के बाद संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने अध्यक्ष के आसन के पास नारेबाजी कर रहे सदस्यों से अपनी सीट पर जाने का आग्रह किया।



कुमार ने कहा, “मैं सभी सम्माननीय सदस्यों से अपनी सीटों पर वापस जाने और कामकाज सुचारु रूप से संचालित होने देने का आग्रह करता हूं। हम अविश्वास प्रस्ताव सहित हर विषय पर चर्चा करने के लिए तैयार हैं।”

उन्होंने कहा, “हमारी सरकार के पास सदन और सदन के बाहर बहुमत प्राप्त है।”

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि वह सदन के समक्ष अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस रखने के ‘कर्तव्य से बंधी’ हैं।

शोरगुल बढ़ने के साथ महाजन ने कहा कि वह शोरगुल के बीच प्रस्ताव के समर्थक सदस्यों की गिनती नहीं कर पाएंगी।

अध्यक्ष के आसन के सामने तख्तियां लेकर प्रदर्शन कर रहे सदस्यों की वजह से महाजन ने प्रस्ताव के समर्थन में खड़े सदस्यों की गिनती में असमर्थता जताई।

उन्होंने कहा, “जब तक सदन व्यवस्थित नहीं हो जाता, मैं 50 लोगों की गिनती करने की स्थिति में नहीं हूं। मैं यहां असपास की कोई चीज नहीं देख सकती, मैं कैसे गणना करूंगी..।”

इसके बाद अध्यक्ष ने सदन को दिन भर के लिए स्थगित कर दिया।

इससे पहले सुबह 11 बजे सदन की बैठक शुरू होने के बाद इसी तरह के विरोध प्रदर्शन के बीच सदन को दोपहर 12 बजे के लिए स्थगित किया गया था।

-आईएएनएस

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*