मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ राजनीतिक युवा संगठनों का विरोध प्रदर्शन




भाजपा की केंद्र सरकार के विरोध में सोमवार को भारतीय युवा कांग्रेस सहित कुल 14 विपक्षी दलों के युवा संगठन एक मंच पर शामिल हुए। ‘देश बचाओ-युवा बचाओ’ के नाम से होने वाला ये विरोध प्रदर्शन युवा कांग्रेस के नेतृत्व में किया गया।

यूनाइटेड यूथ फ्रंट की अगुवाई में विभिन्न युवा संगठनों के साथ मंडी हाउस से यह मार्च निकाला गया जो जंतर-मंतर पर पहुंचकर एक सभा में तब्दील हो गया। इस

मौके पर युवा कांग्रेस अध्यक्ष केशव चंद यादव ने कहा कि यह यूनाइटेड यूथ फ्रंट की पहली रैली है, जिसमें 14 विभिन्न राजनीतिक दलों के युवा संगठन जुड़े हैं। हमने एक साथ मिलकर केंद्र में बैठी भाजपा सरकार की नाकामियों के खिलाफ हुंकार भरकर दिखा दिया है कि अब युवा और झूठ बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि फसल बीमा योजना में खरीफ 2016 और रबी की फसल 2016-17 में निजी कंपनियों को 14,828 करोड़ रुपये का लाभ निजी कंपनियों को मिला है।

दरअसल कुछ समय पहले कांग्रेस, एनसीपी, सीपीआई, आरजेडी जैसी कई पार्टियों के युवा संगठनों ने यूनाइटेड यूथ फ्रंट बनाने की घोषणा की थी। अब इसी युवा फ्रंट के नेता और कार्यकर्ता पहली बार सोमवार को सड़क पर उतरें।

वही ये 14 राजनीतिक युवा संगठन बेरोजगारी, एएससी परीक्षा में गड़बड़ी, पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम, महंगाई और राफेल सौदे में घो जैसे मुद्दों को लेकर सड़क पर उतरीं।

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!