लागू हो रहे हैं ये नियम, आम जनता की जेब पर पड़ेंगे भारी




New Delhi : एक अक्टूबर से छोटी बचत योजनाओं जैसे पीपीएफ, नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट पर ज्यादा मुनाफा मिलेगा. वही फेस्टिवल सीजन की वजह से जेब पर भी मंहगाई की मार पड़ने वाली है.

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बेतेहाशा बढ़ोत्तरी के बाद घरेलू गैस सिलेंडर (एलपीजी) के भी दाम बढ़ा दिए गए हैं. सब्सिडी गैस सिलेंडर की कीमत में 2.89 रुपये बढ़ाए गए हैं. सब्सिडी गैस सिलेंडर अब 499 रुपये 51 पैसे के बजाए 502 रुपए 40 पैसे का मिलेगा. वही गैर सब्सिडी सिलेंडर की कीमत में 59 रुपए प्रति सिलेंडर का इजाफा हुआ है.



सरकार ने रविवार को सीएनजी के दाम भी बढ़ा दिए हैं. सीएनजी के दामों में इजाफे के बाद दिल्ली में अब सीएनजी 44.30 रुपये प्रति किलो मिलेगी. नोएडा, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में इसकी कीमत 51.25 रुपये किलो होगी.


वहीँ एक अक्टूबर से सरकार ने छोटी बचत योजनाओं जैसे कि एनएससी और पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) जैसी स्कीम पर मिलने वाली ब्याज को अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के लिए 0.30-0.40 फीसदी तक बढ़ा दिया है. अब टाइम डिपॉजिट (TD), रेकरिंग डिपोजिट (RD), सीनियर सिटिजन सेविंग अकाउंट, मंथली इनकम अकाउंट, नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC), पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (PPF), किसान विकास पत्र (KVP) और सुकन्या समृद्धि स्कीम पर पहले से 0.40 फीसदी तक ज्यादा ब्याज मिलेगा.

इतना ही नहीं PNB ने छोटी और लंबी अवधि के कर्ज पर एमसीएलआर दरों में बढ़ोतरी की है. इसके बाद पीएनबी से ऑटो और पर्सनल लोन लेना महंगा होगा.

विमान ईंधन (एटीएफ) की घरेलू दर में 2650 रुपये प्रति किलोलीटर की बढ़ोत्तरी की गई है. इसका सीधा असर विमानन कंपनियां टिकटों के दरों में इजाफा पर पड़ेगा, मतलब अब से हवाई सफर की टिकट मंहंगी मिलेगी.

 

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!