2019 लोकसभा चुनाव: ‘आयुष्मान भारत’ मोदी का ‘गोल्‍डन कार्ड’ तो नहीं




रविवार को झारखंड की राजधानी रांची में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘आयुष्मान भारत’ योजना की शुरुआत की। ग्रामीण और शहरी क्षेत्र के गरीब लोगों को ध्‍यान में रखते हुए आयुष्‍मान भारत योजना को लॉन्‍च किया।

इस योजना की मदद से देश के 10 करोड़ परिवारों को 5 लाख का इंश्‍योरेंस कवर मिलेगा। आयुष्मान भारत हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम के जरिए पीएम मोदी लाभार्थी से सीधे संवाद कर रहे हैं। इस योजना के सभी लाभार्थियों को पीएम मोदी खुद लेटर भेज रहे हैं। लेटर के माध्यम से ही इंश्योरेंस की आगे की प्रक्रिया शुरू होगी। 25 दिसंबर से यह योजना देशभर में लागू होगी।

वहीँ तेलंगाना पीएमजेएवाई-आयुष्मान भारत में इस समय शामिल नहीं हुआ है और वह फिलहाल अपनी स्वास्थ्य योजना को ही लागू रखेगा। तेलंगाना की आरोग्यश्री योजना के तहत लगभग 80 लाख परिवार आते हैं। राज्य सरकार का दावा है कि उनके पास पहले से ही आरोग्यश्री योजना है। और इसी के चलते इस समय तेलंगाना केंद्र की इस योजना में शामिल नहीं हो रहा है। राज्य में इस समय आरोग्यश्री योजना ही जारी रहेगी।

दरअसल, बीजेपी को अब तक शहरी क्षेत्रों की पार्टी माना जाता रहा है। ऐसे में ग्रामीण भारत में उसकी पैठ बनाने में यह योजना काफी सफल साबित हो सकती है। हालांकि, इस योजना को लागू करने में कई चुनौतियां भी हैं, लेकिन बीजेपी को उम्‍मीद है कि इस अयोग्‍य योजना की मदद से बीजेपी को जातिगत समीकरण तोड़ने में मदद मिलेगी।

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!