मोदी पर बरसे राहुल, कहा चीन के खिलाफ मुंह से बोली नहीं निकलती




चीन (China) ने एक बार फिर जैश सरगना मसूद अजहर (Masood Azhar) को ग्लोबल आतंकी (Global Terrorist) घोषित होने से बचाने के लिए संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव के खिलाफ अपने वीटो का इस्तेमाल किया है.

चीन द्वारा अड़ंगा लगाए जाने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बृहस्पतिवार को ट्विटर पर अपने गुस्से का इज़हार किया. उनहोंने अपने ट्वीट में लिखा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से डरे हुए हैं और चीन के खिलाफ उनके मुंह से एक शब्द नहीं निकलता है.

”कमजोर मोदी शी चिनफिंग से डरे हुए हैं. जब चीन भारत के खिलाफ कदम उठाता है तो उनके मुंह से एक शब्द नहीं निकलता है. मोदी की चीन कूटनीति : गुजरात में शी के साथ झूला झूलना, दिल्ली में गले लगाना, चीन में घुटने टेक देना रही,” उनहोंने ट्वीट में लिखा.

मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद भारत की पड़ोसियों के साथ कूटनीति में बहुत गिरावट आया है. सरकारी आंकड़े के अनुसार, साढ़े चार साल में नरेंद्र मोदी ने लगभग विश्व का 84 बार दौरा किया और उन दौरों पर $280 मिलियन (2,010 करोड़ रुपए) खर्च हुए हैं. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के रहते हुए नरेंद्र मोदी ने जिस तरह से विदेशों का दौरा किया है इससे विदेश मंत्रालय के अस्तित्व पर संशय नज़र आया.

इन सबके बावजूद भाजपा सरकार में अब तक भारत की कूटनीति की सफलता देखने को नहीं मिली है. पकिस्तान, नेपाल जैसे छोटे देशों से भारत के रिश्ते बेहतर नहीं हुए. साढ़े चार साल में खराब कूटनीति को लेकर कश्मीर में पाकिस्तानी आतंक जारी है. चीन के राष्ट्रपति का भारत दौरा और खुद प्रधानमंत्री का चीन दौरा महज़ प्रयास का दिखावा ही रह गया. एक आतंकी को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए भारत चीन पर विश्व का दबाव बना कर उसे राज़ी नहीं करवा सका और चीन ने अपने वीटो का इस्तेमाल करके मसूद को एक बार फिर बचा लिया.




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*