मानसरोवर यात्रा के दौरान राहुल गांधी के मांसाहार खाने पर भाजपा की राजनीति, होटल ने कहा मांसाहारी नहीं शाकाहारी भोजन का आर्डर दिया था राहुल ने




 

राहुल गांधी बारह दिनों के मान सरोवर यात्रा पर हैं. उन्होंने इसकी जानकारी ट्विटर पर दी. “कैलाश यात्रा पर तब कोई जाता है जब उसे यहाँ से बुलावा आता है. मैं यह अवसर पाकर बहुत खुश हूँ और इस यात्रा के दौरान इस खुबसूरत यात्रा को साझा कर सका तो ख़ुशी होगी.” उन्होंने ट्वीट कर कहा.

मान सरोवर यात्रा के दौरान नेपाल के एक होटल में खाने को लेकर भाजपा ने राहुल गांधी को निशाना बनाया है. असल में, एबीपी चैनल ने वूटू (Vootoo) रेस्तरां के एक वेटर का इंटरव्यू लिया जिसमें वेटर ने कहा कि राहुल गांधी ने मेवारी व्यंजन और चिकन कुरकुरे का सेवन किया.  मानसरोवर यात्रा के दौरान मांसाहार निषेध माना जाता है. मानसरोवर यात्रा हिन्दुओं का एक महत्वपूर्ण तीर्थस्थल है जो चीन में है और जहाँ जाने के लिए शारीरिक तौर पर सक्षम होने के साथ ही चीन से वीसा लेना ज़रूरी होता है.

मानसरोवर यात्रा बहुत ही पीड़ादायक यात्रा होती है और इस दौरान कई प्राकृतिक कठिनाइयों का ख़तरा होता है. राहुल गांधी के अनुसार इस यात्रा का मन उनहोंने तब बनाया था जब वह इस वर्ष अपने चार्टर्ड प्लेन से दिल्ली से हुबली की यात्रा कर रहे थे और प्लेन में तकनिकी खराबी आई थी. राहुल गांधी खुद को शिव भक्त मानते हैं और उनहोंने भगवान शिव का धन्यवाद करने के लिए इस यात्रा की योजना बनाई थी.

इस यात्रा के दौरान वह नेपाल के एक रेस्तरां में ठहरे थे जहाँ उनहोंने अपनी टीम के साथ 31 अगस्त को खाना भी खाया था. स्थानीय चैनल के अनुसार और एबीपी के वेटर के साथ साक्षात्कार के अनुसार उनहोंने नेवारी और चिकेन कुकुरे खाया था. वेटर के अनुसार उन्हें चिकन कुरकुरे बहुत पसंद आया और उसका आर्डर बाद में दिया. इसको लेकर भाजपा में राजनीति गरमा गयी है.

अमित मालवीय जो भाजपा के प्रवक्ता हैं ने कहा कि राहुल गांधी ने मानसरोवर यात्रा के दौरान नॉन वेज खा कर हिन्दुओं का अपमान किया है. “हिन्दुओं की आस्था से निरंतर खिलवाड़ राहुल गांधी और कांग्रेस की फितरत बन गयी हैं” उनहोंने ट्वीट में कहा.

अमित मालवीय ने इसमें उस वीडियो को भी शेयर किया है जिसमें वेटर राहुल के खाने पर बात कर रहे हैं हालांकि राहुल का इसमें कोई उल्लेख नहीं है. वेटर किस की बात कर रहा है यह भी स्पष्ट नहीं है. ऐसा लगता है कि वेटर किसी और की बात कर रहा है जिसे राहुल पर प्लांट कर दिया गया है.

इस विवाद के उठने के बाद होटल ने अपने पेज से इस बात का खंडन किया है कि राहुल गांधी ने नॉन-वेज खाया है. होटल ने अपने सन्देश में कहा कि राहुल ने शाकाहारी भोजन का आर्डर दिया. होटल ने यह भी कहा कि होटल की तरफ से इस तरह का कोई स्टेटमेंट नहीं दिया गया.

ज़ाहिर है इस स्पष्टीकरण से भाजपा की खाने पीने की राजनीति औंधे मुंह गिरी है. ज्ञात रहे कि जब से मोदी की सरकार आयी है भाजपा ब्रिगेड खाने पीने को लेकर कई हत्याओं का कारण भी बनी है. गौ मांस के नाम पर कई हत्याएं अब तक हो चुकी है और इसको लेकर भाजपा की परेशानी भी बढ़ी है. विदेशों में भी देश की बदनामी हुई है.

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!