मेघालय में चर्चो को पैसे की पेशकश पर राहुल ने कहा भाजपा के पास बहुत पैसा लेकिन वह सबको नहीं ख़रीद सकते




जोवाई (मेघालय), 30 जनवरी, 2018 (टीएमसी हिंदी डेस्क| कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने यहां मंगलवार को कांग्रेस शासित मेघालय में विधानसभा चुनाव से पहले गिरजाघरों (चर्चो) को पैसे की पेशकश करने पर भाजपा नीत राजग की निंदा की। राहुल ने जयंतिया हिल्स जिले में सात विधानसभा सीटों पर अपने उम्मीदवारों के पक्ष में प्रचार किया और कहा, “भाजपा के पास बहुत पैसा है। इन दिनों भाजपा के नेता सोचते हैं कि पैसे से सबकुछ खरीदा जा सकता है।”

राहुल ने कहा, “मुझे यह सुनकर बहुत दुख हुआ कि भाजपा ने चर्चो को पैसे की पेशकश की है, मुझे लग रहा है कि यह बड़ी रकम होगी..।”

राहुल ऐसा बयान गुजरात में भी दे चुके हैं। उन्होंने यह बयान वहां पाटीदार नेताओं को खरीदे जाने की खबरें आने के संदर्भ में कहा था। गौर करने की बात यह भी है कि अन्य राज्यों से जहां चर्चो पर हमले की खबरें आती रहती हैं, वहीं चुनाव वाले राज्य मेघालय में वोट की खातिर चर्चो पर उदारता दिखाई जा रही है।

कांग्रेस अध्यक्ष बुधवार को विभिन्न ईसाई समूहों के चर्च नेताओं से नाश्ते पर मुलाकात करने वाले हैं।

मुख्यमंत्री मुकुल संगमा, कांग्रेस की राज्य इकाई के अध्यक्ष सेलेस्टीन लिंगदोह, लोकसभा सदस्य विंसेंट एच. पाला और अन्य नेता राहुल के साथ होंगे।

गौरतलब है कि केंद्रीय पर्यटन मंत्री के.जे. अल्फोंस ने राज्य में धार्मिक और आध्यात्मिक गलियारे के विकास के लिए 70 करोड़ रुपये के एक पर्यटन पैकेज की घोषणा की थी।

लेकिन प्रेसबिटेरियन चर्च और कैथोलिक चर्च के अलावा विपक्षी हिल स्टेट पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी ने इस पेशकश पर सख्त नाराजगी जताई थी।

60 सदस्यीय मेघालय विधानसभा चुनाव के लिए मतदान 27 फरवरी को होगा।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, “ऐसी कोई कीमत और धनराशि नहीं है, जो मेघालय के लोगों को खरीद सके। भाजपा यहां कुछ नेताओं को खरीद सकती है और कुछ नेता भाजपा में या उसकी मददगार एनपीपी (नेशनल पीपुल्स पार्टी) में जा सकते हैं।”

गौरतलब है कि कांग्रेस के पांच पूर्व विधायक -रॉवेल लिंगदोह, प्रीस्टोन तिनसोंग, कोमिंग वन यंबोन, स्नियाभालांग धर और नगितलांग धर पूर्व लोकसभा अध्यक्ष दिवंगत पी.ए. संगमा द्वारा स्थापित एनपीपी में शामिल हो गए हैं।

एक अन्य कांग्रेसी विधायक अलेक्जेंडर हेक भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए हैं। हेक मुकुल संगमा के नेतृत्व वाली सरकार में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री थे, लेकिन उन्हें पिछले वर्ष पद से हटा दिया गया था।

राहुल ने कहा कि मेघालय का भविष्य न एनपीपी बदल सकती है और न भाजपा। उन्होंने कहा, “एनपीपी को वोट देने का मतलब भाजपा को वोट देना होगा, लेकिन वे मेघालय के भविष्य को बदल नहीं पाएंगे।”

-आईएएनएस

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*