अमित शाह के बेटे जय के बचाव में अब रविशंकर प्रसाद और राजनाथ




भारत के क़ानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद (फ़ाइल फ़ोटो)
ये सभी आरोप आधारहीन हैं और इनमें कोई सच्चाई नहीं है। इससे पहले भी अमित शाह के ऊपर कई आरोप लगाए गए। इस मुद्दे पर जांच की जरूरत नहीं।

नई दिल्ली, 10 अक्टूबर  | केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह के खिलाफ आरोप निराधार हैं और इसके साथ ही उन्होंने जय शाह के स्वामित्व वाली कंपनी के कारोबार में राजग सरकार के सत्ता में आने के बाद कथित तौर पर हुई असाधारण वृद्धि की जांच की मांग खारिज कर दी।



राजनाथ ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के मुख्यालय का उद्घाटन करते हुए कहा, “ये सभी आरोप आधारहीन हैं और इनमें कोई सच्चाई नहीं है। इससे पहले भी अमित शाह के ऊपर कई आरोप लगाए गए। इस मुद्दे पर जांच की जरूरत नहीं।”

वहीँ कोच्चि में केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मंगलवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह पर कांग्रेस के भ्रष्टाचार के आरोप निराधार हैं। प्रसाद ने संवाददाताओं से कहा कि जय शाह ने कारोबार के दौरान कुछ गलत नहीं किया है।

उन्होंने कहा, “अब क्या हो रहा है कि साजिश रची जा रही है और जय शाह के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए हैं। वह पहले ही 100 करोड़ रुपये की मानहानि का मामला दाखिल कर चुके हैं।”

कांग्रेस ने जय शाह के स्वामित्व वाली कंपनी के कारोबार में 2015 के बाद से हुई 16,000 गुना वृद्धि की कथित जांच की मांग की है। कांग्रेस ने इस मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष से इस्तीफे की भी मांग की है।

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!