वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अभिषेक मनु सिंघवी के ज़हरीले बोल




ज़ायरा वसीम के बॉलीवुड छोड़ने पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का ज़हरीला बयान आया है. कांग्रेस के प्रवक्ता और वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी जो पेशे से वकील भी हैं ने ट्वीट किया है. ट्वीट में उनहोंने लिखा है “हलाला जाएज़ और एक्टिंग हराम, क्या ऐसे तरक्की करेगा हिंदुस्तान का मुसलमान?

यह उस पार्टी के वरिष्ठ नेता का बयान है जो स्वतंत्रता के बाद लगभग देश पर 55 से 60 वर्षों तक शासन करते रहे और जिस पार्टी पर देश में मुसलमानों और दलितों की दयनीय स्थिति का आरोप लगता रहा है. ज्ञात रहे कि इसी पार्टी ने शाह बानो केस में मुस्लिम तुष्टिकरण के लिए सुप्रीम कोर्ट के आदेश को पलटने के लिए संसद में कानून लाया जो स्पष्ट तौर पर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के दबाव में था और जो आज भी मुद्दा बना हुआ है.

यह भी पढ़ें: “हलाला जायज और एक्टिंग हराम, क्या ऐसे तरक्की करेगा हिंदुस्तान का मुसलमान?”: कांग्रेसी प्रवक्ता

इससे पहले भी सिंघवी ने ज़ायरा के बॉलीवुड छोड़ने को लेकर एक और ट्वीट किया था जो कम जहरीला और भ्रामक नहीं था. उनहोंने कहा कि अगर ज़ायरा के इस कारण को सामान्य तौर पर लिया जाए तो भारत के गौरव आमिर खान, शाहरुख़ खान, सलमान खान, एआर रहमान, जावेद अख्तर और बहुत सारे लोगों का क्या होगा?

ट्वीट से स्पष्ट है कि कांग्रेस के इस बड़े नेता का मत है कि ज़ायरा ने बॉलीवुड अगर छोड़ दिया तो जो मुसलमान बॉलीवुड में हैं उन्हें भी बॉलीवुड छोड़ देना चाहिए. यह कुंठित मानिसकता वाले की ही सोच हो सकती है जो किसी व्यक्ति विशेष की व्यक्तिगत पसंद को पूरे समाज पर थोपना चाहता है.

अभिषेक मनु सिंघवी का इससे पहले दिल्ली में मंदिर पर पथराव को लेकर भी एक ट्वीट आया था जो हिन्दू मुस्लिम सद्भावना को बिगाड़ने के लिए काफी था. ज्ञात रहे कि दो दिन पहले पुरानी दिल्ली में एक मंदिर पर पथराव हुआ था जिसका आरोप पड़ोस के मुसलमानों पर था. बाद में स्थानीय मुसलमानों और हिन्दुओं में सुलह हुआ और वहां सांप्रदायिक तनाव आपसी समझ से टल गया. स्थानीय लोगों का कहना था कि यह कुछ लोगों की साज़िश थी जो इस इलाके में सालों से बने हिन्दू मुस्लिम सद्भावना को बिगाड़ना चाहते थे.

सिंघवी ने ट्वीट किया था “दो दिन मंदिर की घटना को हो गए और गृह मंत्री और केंद्र शासित दिल्ली पुलिस द्वारा कोई कारवाई नहीं की गयी. हमें पता है कि सत्ताधारी पार्टी अल्पसंख्यकों का ख्याल नहीं करती लेकिन यह तो बहुसंख्यक समुदाय की भावनाओं का भी सम्मान नहीं कर रही.”

ज्ञात रहे कि अभिषेक मनु सिंघवी का 2012 में एक सीडी वायरल हुआ था जिसमें सिंघवी को आपत्तिजनक स्थिति में एक महिला के साथ दिखाया गया था. इस काण्ड के बाद सिंघवी को कांग्रेस के प्रवक्ता पद के अतिरिक्त विधि और न्याय की पार्लियामेंट्री स्टैंडिंग कमिटी के चेयरमैन पद से इस्तीफा देना पड़ा था. ट्विटर पर लोग उनकी वह तस्वीर शेयर कर रहे हैं.

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!