शाह फैसल ने की अपनी पार्टी लॉन्च, पार्टी के विज़न डॉक्यूमेंट में दर्ज हैं ये उद्देश्य




शाह फैसल और शहला रशीद पार्टी लांच के अवसर पर (फोटो साभार: ट्विटर)

कश्मीर के आईएस टॉपर ने 2 महीने पहले नौकरशाही को त्यागने के बाद आज कश्मीर में अपनी पार्टी लांच कर दी. शाह फैसल (Ex-IAS Officer Shah Faesal) की पार्टी का नाम ‘जम्मू कश्मीर पीपल्स मूवमेंट (JK Peoples’ Movement)’ होगा.

बता दें कि बीते जनवरी महीने में IAS अफसर शाह फैसल (Shah Faesal) ने अपनी नौकरी से इस्तीफा दे दिया था. शाह फैसल (IAS officer Shah Faesal) ने सिविल सेवा परीक्षा (2010) में टॉप किया था और वे जम्मू-कश्मीर से हैं. शाह फैसल (Shah Faesal) ने कश्मीर में कथित हत्याओं और इन मामलों में केंद्र की ओर से गंभीर प्रयास नहीं करने का आरोप लगाते हुए इस्तीफा दिया था. इस्तीफा देने के एक दिन बाद शाह फैसल ने कहा था कि उनका अगला कदम इस पर निर्भर करेगा कि कश्मीर के लोग, खासकर नौजवान उनसे क्या चाहते हैं.

शाह फैसल की पार्टी को ज्वाइन करने वाली चंद चर्चित शख्सियत में शहला रशीद हैं जिन्होंने आज पार्टी लांच के समय ही इससे जुड़ने का एलान किया.

शाह फैसल ने अपनी पार्टी की साईट पर विज़न डॉक्यूमेंट भी शेयर किया है. पार्टी ने अपने विज़न डॉक्यूमेंट में 29 उद्देश्यों को दर्ज किया है. ये हैं उद्देश्य:

  1. पार्टी जम्मू और कश्मीर राज्य के लोगों की इच्छा और आकांक्षाओं के अनुसार कश्मीर समस्या का शांतिपूर्ण समाधान करेगी।
  2. लोगों को राजनीतिक रूप से सशक्त, आर्थिक रूप से समृद्ध, सामाजिक रूप से मुक्त, नैतिक रूप से विकसित, सांस्कृतिक रूप से प्रबुद्ध और पर्यावरण के प्रति जागरूक बनाकर जम्मू-कश्मीर में स्थायी शांति प्रदान करना।
  3. जम्मू-कश्मीर को मध्य एशिया का प्रवेश द्वार बनाने में जम्मू कश्मीर की भू-रणनीतिक स्थिति का लाभ उठाना। उपमहाद्वीप के लिए एक “लुक अप-नॉर्थ” केंद्र।
  4. पार्टी जम्मू और कश्मीर राज्य की प्राचीन रेशम मार्ग सभ्यता को पुनर्जीवित करने की दिशा में काम करेगी ताकि जम्मू और कश्मीर विभिन्न दक्षिण एशियाई पड़ोसियों के बीच शांति के गलियारे के रूप में पुन: योगदान कर सकें।
  5. पार्टी राज्य में जातीय, भाषाई और धार्मिक अल्पसंख्यकों के उत्थान के लिए काम करेगी और कश्मीरी पंडितों की शांतिपूर्ण और गरिमापूर्ण वापसी के लिए काम करेगी।
  6. बौद्ध, सिख, ईसाई और कश्मीरी पंडित जैसे कम प्रतिनिधित्व वाले समुदायों के लिए पर्याप्त राजनीतिक प्रतिनिधित्व प्राप्त करना।
  7. पार्टी मौजूदा संवैधानिक व्यवस्था के अनुसार राज्य की विशेष स्थिति की रक्षा करेगी।
  8. पार्टी जम्मू और कश्मीर को धार्मिक, जातीय, भाषाई और भौगोलिक विविधता के साथ एक समावेशी बहुलवादी समाज के रूप में फिर से बनाने और उपेक्षित सांस्कृतिक परंपराओं और कलाओं जैसे डोगरा कला, बुद्धवादी विरासत और अन्य लोक परंपराओं को पुनर्जीवित करने का प्रयास करेगी।
  9. पार्टी स्थायी विकास की रणनीतियों को बढ़ावा देगी और राज्य की पर्यावरणीय और सांस्कृतिक विरासत के संरक्षण को सुनिश्चित करेगी; विभिन्न सांस्कृतिक परंपराओं, कला और शिल्प, ऐतिहासिक स्मारकों और राज्य की अमूर्त विरासत के अलावा पहाड़ों, जंगलों, घास के मैदानों, जल निकायों, झीलों, नदियों, झरनों और अन्य हरियाली वाले स्थानों की सुरक्षा के लिए लोगों का आंदोलन खड़ा करेगी।
  10. संवैधानिक, विधायी या प्रशासनिक, सभी क्षेत्रों में महिलाओं को समान अधिकार और प्रतिनिधित्व देने के लिए पारंपरिक मूल्यों और आधुनिक संवेदनाओं के साथ एक प्रगतिशील, लिंग संवेदनशील राजनीतिक संस्थान का निर्माण करना.
  11. संवर्ग, रणनीति, एजेंडा, और आकांक्षाओं के संदर्भ में युवा केंद्रित संगठन बनाना।
  12. पार्टी शिक्षित लोगों की बेरोजगारी को समाप्त करने के लिए रोजगार सृजन पर ध्यान केंद्रित करेगी, युवाओं का कौशल विकास और भर्ती प्रक्रिया में पारदर्शिता सुनिश्चित करेगी।
  13. राज्य की विकास यात्रा में प्रवासी के नज़रिए और उनकी आकांक्षाओं को शामिल करना।
  14. जम्मू, कश्मीर, पीर पांचाल, लेह-कारगिल, चिनाब घाटी के लोगों की क्षेत्रीय आकांक्षाओं को पूरा करना और समान अवसर उपलब्ध करा कर न्यायोचित क्षेत्रिय विकास को सुनिश्चित करना और राष्ट्रीय, राज्य और क्षेत्रीय और स्थानीय संसाधनों तक पहुँच और उनपर हक दिलाना।
  15. एक शासन संरचना का निर्माण करना जो राज्य की आवश्यकताओं के अनुरूप हो।
  16. राज्य में निचले स्तर पर भागीदारी वाला शासन के लिए सभी तीन स्तरों पर निर्वाचित प्रतिनिधियों को सशक्त बनाना और लोगों को शक्ति प्रदान करना।
  17. आवंटन की एक पारदर्शी प्रणाली विकसित करना, और सभी सरकारी वाणिज्यिक गतिविधियों का वितरण करना।
  18. पार्टी सहिष्णुता की संस्कृति को बढ़ावा देगी और जम्मू-कश्मीर के लोगों और देश के बाकी हिस्सों के लोगों से संपर्क को बढ़ावा देगी।
  19. पार्टी सभी क्षेत्रों और समुदायों की आकांक्षाओं को संबोधित करते हुए जम्मू और कश्मीर राज्य में न्याय और मेल-मिलाप का माहौल बनाने की कोशिश करेगी।
  20. पार्टी महिलाओं के लिए समान अधिकारों और अवसरों को उपलब्ध कराने और सामूहिक सामाजिक, सांस्कृतिक, आर्थिक और राजनीतिक जीवन में उनकी पूर्ण भागीदारी के लिए काम करेगी।
  21. पार्टी अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, गुर्जर, बकरवाल, पहाड़ी, दार-शाइना, बलती, और विभिन्न धार्मिक और जातीय अल्पसंख्यकों जैसे हाशिए के समुदायों के उत्थान के लिए काम करेगी।
  22. पार्टी समाज के वंचित वर्गों के लिए; हिंसक संघर्ष से प्रभावित लोग, एलओसी/एएलसी और अंतर्राष्ट्रीय सीमा के करीब रहने वाले लोग, विकलांग व्यक्ति, वरिष्ठ नागरिक, एकल माता-पिता, ट्रांसजेंडर, महेगर (Mahigeer), बेघर विस्थापित लोग और अन्य अवसादग्रस्त वर्ग के लिए न्याय उपलब्ध कराएगी।
  23. पार्टी पारदर्शिता और जवाबदेही की संस्कृति को बढ़ावा देने की कोशिश करेगी और यह सुनिश्चित करेगी कि आर्थिक विकास और सुशासन प्रदान करते हुए जम्मू और कश्मीर के लोगों की गरिमा सर्वोपरि रहे।
  24. पार्टी सभी नागरिकों को समान अवसर के सिद्धांतों के आधार पर एक विकसित लोकतांत्रिक जम्मू और कश्मीर राज्य के निर्माण के कार्य के लिए प्रतिबद्ध है।
  25. पार्टी लोकतान्त्रिक राजनीति को बिगाड़ने वाली पैसे, ताक़त और बाहुबल के बुरे असर के खिलाफ अभियान चलाने की कोशिश करेगी.
  26. पार्टी जम्मू और कश्मीर राज्य के सभी लोगों को शिक्षा, स्वास्थ्य सुविधाएं, पहुँच योग्य और गुणवता वाला इन्फ्रास्ट्रक्चर और सुरक्षा उपलब्ध कराने के लिए काम करेगी.
  27. पार्टी रोजगार, व्यवसाय करने में आसानी और औद्योगिक विकास को बढ़ावा देगी और जम्मू-कश्मीर के लोगों को बिना किसी भेदभाव के, पात्रता के आधार पर सुविधा प्रदान करेगी और किसानों के कल्याण के लिए काम करेगी। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, रोबोटिक्स और नैनोटेक्नोलॉजी के आगमन और चौथी औद्योगिक क्रांति की मांगो के मद्देनज़र शिक्षा और शोध को बहाल करना.
  28. बैठक, सेमिनार, सम्मेलन और रैलियों जैसे अभियानों की शक्ल में शांतिपूर्ण और लोकतांत्रिक रूपों के माध्यम से पार्टी अपने उद्देश्य को प्राप्त करेगी। यह चुनाव अभियानों के दौरान आम नागरिकों को प्रभावित करने वाले समकालीन मुद्दों को भी उठाएगा।
  29. परामर्शी नीति बनाने की रूपरेखा तैयार करने के लिए जहां गैर-सरकारी, स्वैच्छिक और नागरिक समाज संगठन समेत सभी हितधारक राजनीतिक, आर्थिक और सामाजिक मुद्दों पर नीति निर्माण में निर्णायक भूमिका निभाएंगे।
Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*