RBI से 1 लाख करोड़ या 3.6 लाख करोड़ नहीं मांग रही सरकार: सुभाष चंद्र गर्ग




नई दिल्ली : सरकार द्वारा RBI से 1 लाख करोड़ या 3.6 लाख करोड़ मांगे जाने की खबरों का खंडन करते हुए आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने कहा है कि ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है. उन्होंने कहा, सरकार का राजकोषीय गणित सही राह पर है. RBI के लिए सिर्फ उपयुक्त आर्थिक पूंजी ढांचा निर्धारित करने का प्रस्ताव है.

उन्होंने कहा कि सरकार, रिजर्व बैंक की उपयुक्त आर्थिक पूंजी व्यवस्था तय करने के तौर-तरीकों पर विचार-विमर्श कर रही है. चालू वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटा 3.3 प्रतिशत के लक्ष्य के अंदर ही रहेगा, सरकार इस साल के बजट में बाजार से कर्ज लेने के लक्ष्य में स्वयं ही 70,000 करोड़ रुपये की कटौती कर चुकी है.

बता दें कि आरबीआई की स्वायतत्ता पर लगातार बहस चल रही है. इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी मीडिया रिपोर्ट के हवाले से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि “प्रधानमंत्री को अपने विलक्षण आर्थिक ज्ञान के कारण फैली अव्यवस्था” को ठीक करने के लिये अब रिजर्व बैंक से 3.60 लाख करोड़ रुपये की बड़ी राशि की जरूरत पड़ गयी है. एक अखबार की रपट में दावा किया गया है कि सरकार रिजर्व बैंक से 3.60 लाख करोड़ रुपये की मांग कर रही है.

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!