सुंजवान आतंकी हमले में 9 मौतें




जम्मू, 11 फरवरी,2018 (टीएमसी हिंदी डेस्क) | रक्षा मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने रविवार को पुष्टि की कि जम्मू एवं कश्मीर में जारी आतंक रोधी कार्रवाई में अबतक कुल नौ लोगों की मौत हो चुकी है। आतंक रोधी सैन्य कार्रवाई का जायजा लेने सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं। कर्नल देवेंद्र आनंद ने संवाददाताओं को बताया कि जम्मू शहर के सुंजवान सैन्य शिविर में शनिवार से जारी सैन्य कार्रवाई में अबतक तीन आतंकवादी मारे जा चुके हैं।



इससे पहले चार आतंकवादियों के मारे जाने की खबर आई थी, लेकिन रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि अभी केवल तीन आतंकवादियों के मारे जाने की ही पुष्टि की जा सकती है।

आनंद ने कहा, “कार्रवाई में पांच सैनिक शहीद हो गए। सभी सैनिक जम्मू एवं कश्मीर के थे। एक सैनिक के पिता की भी मृत्यु हो गई। अब तक हमने तीन आतंकवादियों को मार गिराया है।”

उन्होंने कहा, “सभी ने सेना की वर्दी पहन रखी थी। शिविर के अंदर जांच और सफाई अभियान अभी भी जारी है। उनके कब्जे से एके-56 राइफलें, अंडर बैरल ग्रेनेड लांचर, हथियार और ग्रेनेड मिले हैं।”

उन्होंने कहा, “हमले में छह महिलाओं और बच्चों सहित 10 अन्य घायल हो गए हैं। गंभीर रूप से घायल एक गर्भवती महिला को बचाने के लिए सेना के डॉक्टरों ने रात भर उसका उपचार किया। महिला ने ऑपरेशन के बाद एक बच्ची को जन्म दिया।”

उन्होंने कहा, “सिर में गोली लगने से घायल एक 14 वर्षीय लड़के की हालत स्थिर बनी हुई है।”

शिविर में और आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में पूछने पर प्रवक्ता ने न तो इंकार किया और न ही इसकी पुष्टि की।

भारी हथियारों से लैस आतंकवादियों ने शनिवार तड़के 4.45 बजे सुंजवान सेना शिविर पर धावा बोल दिया था। इस हमले के लिए पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद को जिम्मेदार माना गया।

आतंकवादी जूनियर कमिशंड ऑफिसर्स (जेसीओ) क्वार्टर में उस समय घुस आए थे, जब सभी सो रहे थे। फिलहाल आतंकवादियों की राष्ट्रीयता का पता नहीं चल सका है।

सेना के उधमपुर मुख्यालय के उत्तरी कमान के पैरा कमांडो आतंकवादियों पर हमला करने के लिए विमान से वहां पहुंच गए थे। वायुसेना ने हवाई चौकसी प्रदान की।

-आईएएनएस

Liked it? Take a second to support द मॉर्निंग क्रॉनिकल हिंदी टीम on Patreon!